देश में कंपलीट लाकडाउन पर आज कोई कड़ा फैसला ले सकती है केन्‍द्र सरकार

आईसीएमआर और एम्‍स ने भी दी है लाकडाउन की सलाह

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कोरोना महामारी से निपटने के लिए देश में कंपलीट लाकडाउन पर सरकार आज कोई कड़ा फैसला ले सकती है। कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए कोविड टास्‍क फोर्स के मेंबर्स ने देश में कम्‍पलीट लाकडाउन का सुझाव दिया है। आईसीएमआर की रिपोर्ट के अनुसार भी देश में लाकडाउन की जरूरत बतायी जा रही है। केन्‍द्र सरकार आज इस मामले पर कोई फैसला ले सकती है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने लाकडाउन को लेकर विचार विमर्श करने के संकेत दिए हैं। आईसीएमआर का मानना है कि कोरोना की दूसरी लहर का पीक आना बाकी है। संस्थान का कहना है कि इन स्थितियों में संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए दो हफ्ते का पूर्ण लॉकडाउन जरूरी है।

Devi Maa Dental

हालांकि केंद्र ने ICMR और एम्स की राय पर कोई फैसला नहीं लिया है। सूत्र बताते हैं कि 3 मई के बाद केंद्र इस पर फैसला ले सकता है। कहा जा रहा है कि पूर्ण लॉकडाउन नहीं तो आंशिक लॉकडाउन की घोषणा सरकार की ओर से की जा सकती है।

उधर अशोका यूनिवर्सिटी में त्रिवेदी स्कूल ऑफ बायोसाइंसेज के डायरेक्टर और वायरोलॉजिस्ट डॉ. शाहिद जमील ने भास्कर से कहा था कि मई के दूसरे हफ्ते में कोरोना की दूसरी लहर का पीक आ सकता है। अभी हम ये नहीं कह सकते हैं कि कितने मामले आएंगे। यह आंकड़ा 5-6 लाख केस रोजाना का भी हो सकता है। दरअसल, ये आंकड़ा लोगों के कोविड को लेकर बरती जा रही सावधानी और उनके व्यवहार पर निर्भर करेगा। डॉ. जमील मानते हैं कि अगर लोग कोविड दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे तो शायद मई के अंत में भी हम दूसरी लहर से उबर सकते हैं, पर अगर लोग इसी तरह नियम तोड़ते रहे तो ये लहर काफी लंबी भी खिंच सकती है।

Bansal Saree