बिहार पुलिस ने अंतरराज्यीय देह व्यापार गिरोह का भंडाफोड़ किया, 5 गिरफ्तार

पटना, 21 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार पुलिस ने रोहतास में एक अंतरराज्यीय सेक्स रैकेट का भंडाफोड़करते हुए इस सिलसिले में सरगना समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी।
 | 
बिहार पुलिस ने अंतरराज्यीय देह व्यापार गिरोह का भंडाफोड़ किया, 5 गिरफ्तार पटना, 21 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार पुलिस ने रोहतास में एक अंतरराज्यीय सेक्स रैकेट का भंडाफोड़करते हुए इस सिलसिले में सरगना समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी।

पुलिस ने 6 नाबालिग लड़कियों को भी छुड़ाया, जिन्हें मुंबई के डांस बार में सप्लाई किया जाना था।

अधिकारी ने बताया कि गिरोह का रोहतास और मुंबई के अलावा मुजफ्फरपुर, पटना, रक्सौल में नेटवर्क बना हुआ था।

पुलिस ने कहा कि वे विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं को भी नाबालिग लड़कियों की आपूर्ति करते थे।

Bansal Saree

घटना का पता 19 जुलाई को तब चला जब 14 साल की एक बच्ची गैंग की सरगना रेखा देवी उर्फ बुआ की कैद से फरार हो गई और पटना में बाल कल्याण विभाग के कार्यालय पहुंची।

पीड़िता ने अधिकारियों के सामने अपनी आपबीती सुनाई जिन्होंने तुरंत पटना पुलिस को इस मामले में प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया।

चूंकि मामला देह व्यापार और मानव तस्करी से जुड़ा है, इसलिए बिहार पुलिस (कमजोर वर्ग) के एडीजी अनिल कुमार ने तुरंत एक बचाव दल का गठन किया, जिसने सोमवार तड़के छापेमारी की।

बिहार पुलिस की कमजोर वर्ग शाखा की एसपी बीना कुमारी ने कहा, छापे के दौरान, हमें पता चला कि आरोपी ने शिकायतकर्ता की 12 वर्षीय नाबालिग बहन की भी हत्या कर दी है।

Devi Maa Dental

एसपी ने कहा, हमने रेखा देवी उर्फ बुआ, गोपाल नट, शंकर नट, विकाश और सोनू को गिरफ्तार किया है। रेखा बिक्रमगंज में उस घर में कड़ी सुरक्षा करती थी, जहां नाबालिग लड़कियों को बंदी बनाकर रखा जाता था।

अधिकारी ने कहा, रेखा अच्छी तनख्वाह के साथ ऑर्केस्ट्रा में नौकरी देने के आकर्षक ऑफर देती थी। एक बार एक लड़की जाल में फंस गई, तो उसने उसे घर में बंदी बना लिया और उसे मुंबई ले गई। आरोपी के पास मुंबई में एक घर भी है और वह लड़कियों की सप्लाई करता था। लड़कियों को डांस बार में ले जाया जाता था और आरोपी देह व्यापार में शामिल थी।

उन्होंने आगे कहा, हमने आईपीसी की संबंधित धाराओं - हत्या, मानव तस्करी, अपहरण और पॉक्सो अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। पुलिस टीम ने घर से गर्भावस्था और गर्भपात की गोलियों के अलावा 1.71 लाख रुपये नकद भी जब्त किए हैं। पीड़ितों को रोहतास जिले में एक आश्रय गृह में भेज दिया गया था।

--आईएएनएस

एचके/आरजेएस