शिवराज पहुंचे खेतों में, किसानों के नुकसान की भरपाई का वादा

भोपाल, 14 जनवरी (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश में पिछले दिनों हुई बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि के चलते फसलों को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को निवाड़ी जिले के खेतों में पहुंचे और किसानों को भरोसा दिलाया कि उनके नुकसान की सरकार भरपाई करेगी।
 | 
शिवराज पहुंचे खेतों में, किसानों के नुकसान की भरपाई का वादा भोपाल, 14 जनवरी (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश में पिछले दिनों हुई बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि के चलते फसलों को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को निवाड़ी जिले के खेतों में पहुंचे और किसानों को भरोसा दिलाया कि उनके नुकसान की सरकार भरपाई करेगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने शुक्रवार को निवाड़ी जिले की पृथ्वीपुर तहसील के ग्राम खिस्टोन में असमय वर्षा और ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों को देखने खेतों में पहुंचे। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि बाहर से फसलें हरी दिखती हैं पर खेत में अंदर जाकर देखो तो कुछ नहीं बचा है। प्रदेश में पृथ्वीपुर सहित जहां-जहां भी फसलों को नुकसान पहुँचा है, उसकी भरपाई की जायेगी।

Bansal Saree

मुख्यमंत्री चौहान ने खेतों में फसल का जायजा लेने के बाद किसानों से चर्चा भी की। उन्होंने कहा कि, घबराना मत, मुसीबत का मिलकर मुकाबला करेंगे। आँख में आंसू मत लाना। सभी संकट से बाहर निकाल लूंगा। जहां-जहां भी ओलावृष्टि से नुकसान हुआ है उसकी भरपाई सरकार करेगी। यदि फसल का 50 प्रतिशत से अधिक नुकसान हुआ है, तो 30 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर राहत राशि दी जायेगी। फसल बीमा का लाभ अलग से मिलेगा। साथ ही अल्पकालीन ऋण की वसूली स्थगित की जायेगी और अल्पकालीन फसल ऋण को मध्यकालीन ऋण में बदला जायेगा।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि जनहानि के लिये चार लाख, गाय-भैंस की मृत्यु पर 30 हजार रुपए और छोटे पशुओं बछड़ा-बछड़ी, बकरा-बकरी तथा मुर्गा-मुर्गी के लिये भी राहत राशि दी जायेगी। यदि मकानों को क्षति हुई है, खपरेल को नुकसान पहुंचा है, तो इसके लिये भी मुआवजा राशि दी जायेगी।

Devi Maa

मुख्यमंत्री चौहान ग्राम खिस्टोन में ओलावृष्टि से प्रभावित खेत के भ्रमण के दौरान पीड़ित महिला किसान को 50 हजार रुपए की राशि शीघ्रता से भुगतान करने के निर्देश अधिकारियों को दिये। मुख्यमंत्री चौहान ने मड़िया हल्का के मबई ग्राम की महिला किसान मक्खन बाई रजक से कहा कि चिंता करने की आवश्यकता नहीं है, आपका भाई मुख्यमंत्री है। उन्होंने मक्खन बाई को 50 हजार रुपए सहायता राशि देने के निर्देश दिये।

--आईएएनएस

एसएनपी/एएनएम