शाह के हवाले से असम के सीएम बोले : मानव तस्करी, ड्रग्स पूर्वोत्तर की प्रमुख समस्याएं

गुवाहाटी, 14 जुलाई (आईएएनएस)। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि मादक पदार्थो की तस्करी, पशु तस्करी और मानव तस्करी पूर्वोत्तर क्षेत्र की प्रमुख समस्याएं हैं और इनसे सर्वोच्च प्राथमिकता से निपटा जाना चाहिए। बुधवार को विधानसभा असम विधानसभा के चल रहे बजट सत्र में सवालों के जवाब में मुख्यमंत्री हेमंत बिस्व सरमा ने कहा कि उनकी सरकार ने नशीली दवाओं के खतरे के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई है।
 | 
शाह के हवाले से असम के सीएम बोले : मानव तस्करी, ड्रग्स पूर्वोत्तर की प्रमुख समस्याएं गुवाहाटी, 14 जुलाई (आईएएनएस)। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि मादक पदार्थो की तस्करी, पशु तस्करी और मानव तस्करी पूर्वोत्तर क्षेत्र की प्रमुख समस्याएं हैं और इनसे सर्वोच्च प्राथमिकता से निपटा जाना चाहिए। बुधवार को विधानसभा असम विधानसभा के चल रहे बजट सत्र में सवालों के जवाब में मुख्यमंत्री हेमंत बिस्व सरमा ने कहा कि उनकी सरकार ने नशीली दवाओं के खतरे के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नशीले पदार्थो के खतरे से एकजुट होकर लड़ने के लिए सभी पूर्वोत्तर राज्यों में प्रयास जारी हैं। 10 मई को असम के 15वें मुख्यमंत्री बनने के बाद नशीली दवाओं के खतरे के खिलाफ जंग छेड़ने वाले सरमा ने कहा, गृहमंत्री अमित शाह ने मुझे ड्रग्स, गौ तस्करी और मानव तस्करी के खिलाफ सख्त कदम उठाने को कहा है।

Bansal Saree

मुख्यमंत्री ने सदन को बताया कि असम पुलिस ने सिर्फ दो महीने में अवैध ड्रग्स के व्यापार में शामिल 1,897 लोगों को गिरफ्तार किया है और नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस (एनडीपीएस) अधिनियम और भारतीय दंड संहिता के अन्य प्रावधानों के तहत 1,100 से अधिक मामले दर्ज किए हैं।

गृह विभाग भी संभाल रहे सरमा ने कहा कि पिछले दो महीनों के दौरान असम पुलिस ने राज्य के विभिन्न हिस्सों से 28 किलोग्राम हेरोइन, 41 किलोग्राम अफीम और भारी मात्रा में अन्य मादक पदार्थ जब्त किए हैं। उन्होंने कहा कि जब्त नशीले पदार्थो का राज्य में चार स्थानों पर 17 और 18 जुलाई को सार्वजनिक अलाव में दहन किया जाएगा।

Devi Maa Dental

मुख्यमंत्री ने कहा, कुछ गैरकानूनी उग्रवादी संगठन और उनके कार्यकर्ता भी नशीले पदार्थो की तस्करी में शामिल हैं। कुछ राजनीतिक दल नशों के खिलाफ अपने युद्ध में पुलिस का मनोबल गिराने की कोशिश कर रहे हैं।

अवैध नशीले पदार्थो के खिलाफ अभियान को तेज करने का वादा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि असम को पारगमन मार्ग बनाने के लिए ज्यादातर ड्रग्स की तस्करी म्यांमार से की जाती है। सरमा ने कहा कि असम में सैकड़ों युवाओं को विभिन्न मादक द्रव्यों के सेवन से गुमराह किया जा रहा है।

1 जुलाई को, असम पुलिस ने एक सीरियल अपराधी, ड्रग्स निर्माता और पेडलर जहांगीर अलोम को गोलपारा जिले से गिरफ्तार किया और मेघालय की सीमा से लगे पश्चिमी असम के भालुकडुबी में उसके आवास से 10 करोड़ रुपये की ड्रग्स जब्त की।

राज्य के कार्बी आंगलोंग जिले में 17 जून को एक और बड़ी कार्रवाई में, असम पुलिस ने 7 करोड़ रुपये की हेरोइन जब्त की और एक महिला ड्रग तस्कर सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया। दोनों पड़ोसी नगालैंड के रहने वाले हैं।

--आईएएनएस

एसजीके/एएनएम