लेफ्टिनेंट जनरल अमरदीप सिंह औजला ने चिनार कोर की कमान संभाली

श्रीनगर, 10 मई (आईएएनएस)। लेफ्टिनेंट जनरल अमरदीप सिंह औजला ने मंगलवार को रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण श्रीनगर मुख्यालय वाले चिनार कोर की कमान संभाली। सेना ने यह जानकारी दी।
 | 
लेफ्टिनेंट जनरल अमरदीप सिंह औजला ने चिनार कोर की कमान संभाली श्रीनगर, 10 मई (आईएएनएस)। लेफ्टिनेंट जनरल अमरदीप सिंह औजला ने मंगलवार को रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण श्रीनगर मुख्यालय वाले चिनार कोर की कमान संभाली। सेना ने यह जानकारी दी।

सेना की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि कमान संभालने के बाद लेफ्टिनेंट जनरल औजला ने यहां बादामी बाग छावनी इलाके में स्थित चिनार कोर स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित की।

लेफ्टिनेंट जनरल औजला ने सैनिकों से भी बातचीत की और उन्हें कश्मीर में शांति एवं स्थिरता बरकरार रखने के लिए अथक समर्पण एवं ²ढ़ता के साथ काम करने के लिए प्रोत्साहित किया।

krishna hospital

उन्होंने सभी सुरक्षा बलों से नागरिकों से जुड़ने के लिए आवश्यक अतिरिक्त कदम उठाने को कहा, ताकि साझा उद्देश्य की दिशा में संयुक्त रूप से काम किया जा सके।

भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून के पूर्व छात्र लेफ्टिनेंट जनरल औजला को दिसंबर 1987 में कमीशन दिया गया था और उनका 35 वर्षों का एक शानदार सैन्य करियर रहा है, जिसके दौरान उन्होंने विभिन्न प्रतिष्ठित कमांड में रहकर शानदार काम किया है।

ब्रिगेड मेजर के रूप में, उन्होंने ऑपरेशन पराक्रम के दौरान रेगिस्तानी क्षेत्र में भी सेवा दी है। उन्होंने कश्मीर में उथल-पुथल के वर्षों के दौरान चिनार कोर में ब्रिगेडियर जनरल स्टाफ और उत्तरी कमान में मेजर जनरल जनरल स्टाफ के रूप में कार्य किया है, जिसमें उन पर आतंकवाद रोधी अभियानों के लिए पूरी तरह से जिम्मेदारी थी। उन्होंने रेगिस्तान में राजपूताना राइफल्स बटालियन की भी कमान संभाली है।

फरकियां ब्रिगेड के ब्रिगेड कमांडर के रूप में, उन्होंने कश्मीर में वज्र डिवीजन के जनरल ऑफिसर कमांडिंग के रूप में पदभार संभालने से पहले नियंत्रण रेखा पर काम किया है।

जनरल ऑफिसर को जम्मू-कश्मीर की गहरी समझ है, क्योंकि उन्होंने 1987 से कई कार्यकालों के लिए यहां सेवा की है। वह डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज, वेलिंगटन (तमिलनाडु), हायर कमांड कोर्स, आर्मी वॉर कॉलेज, महू और नेशनल डिफेंस कॉलेज, नई दिल्ली से स्नातकोत्तर हैं।

इस नियुक्ति से पहले, लेफ्टिनेंट जनरल औजला ने सेना मुख्यालय में सूचना प्रौद्योगिकी महानिदेशक (डीजी आईटी) के रूप में एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी भी संभाली।

लेफ्टिनेंट जनरल औजला ने कमान संभालने पर कश्मीर के नागरिकों को बधाई दी। उन्होंने कश्मीर में शांति और समृद्धि को आगे बढ़ाने के लिए नागरिक प्रशासन और समाज में लोगों के साथ मिलकर काम करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।

उन्होंने घाटी में बेहतर सुरक्षा मानकों पर संतोष व्यक्त किया और आशा व्यक्त की कि नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम समझौते से भी समग्र सुरक्षा स्थिति में सुधार होगा। उन्होंने नागरिक समाज से आगे आने और आतंकवाद के संकट से निपटने के लिए सुरक्षा बलों के साथ मिलकर काम करने का आह्वान किया।

लेफ्टिनेंट जनरल औजला ने कहा कि सभी समुदाय के सदस्यों के समर्थन के साथ, कश्मीर विकास के रास्ते पर आगे बढ़ते हुए अपने गौरवशाली अतीत के करीब कदम बढ़ाएगा।

--आईएएनएस

एकेके/एएनएम