लखनऊ विश्वविद्यालय को शैव धर्म पर नए संकाय मिलेंगे

लखनऊ,18 जुलाई (आईएएनएस)। 18 जुलाई (आईएएनएस)। लखनऊ विश्वविद्यालय की एकेडमिक काउंसिल ने अभिनव गुप्त इंस्टीट्यूट ऑफ एस्थेटिक्स एंड शैव फिलॉसफी का दर्जा अपग्रेड कर नए फैकल्टी की स्थापना को मंजूरी दे दी है।
 | 
लखनऊ विश्वविद्यालय को शैव धर्म पर नए संकाय मिलेंगे लखनऊ,18 जुलाई (आईएएनएस)। 18 जुलाई (आईएएनएस)। लखनऊ विश्वविद्यालय की एकेडमिक काउंसिल ने अभिनव गुप्त इंस्टीट्यूट ऑफ एस्थेटिक्स एंड शैव फिलॉसफी का दर्जा अपग्रेड कर नए फैकल्टी की स्थापना को मंजूरी दे दी है।

परिषद ने अगले सत्र से नए पाठ्यक्रमों को भी मंजूरी दी।

Bansal Saree

अभिनव गुप्त इंस्टीट्यूट ऑफ एस्थेटिक्स एंड शैव फिलॉसफी, कश्मीर के दार्शनिक, रहस्यवादी और एस्थेटिशियन के नाम पर, शैववाद में शोध के लिए एलयू में गठित किया गया था।

अभी तक यह एक स्वायत्त संस्थान था, लेकिन अब इसे फैकल्टी का दर्जा प्राप्त होगा। शिक्षण और अनुसंधान के लिए संस्थान के पास अधिक शक्ति और संसाधन होंगे। यह एमए (संस्कृत) पाठ्यक्रम में शैव दर्शन और सौंदर्यशास्त्र पर एक पूर्ण पेपर चलाएगा और डॉक्टरेट अध्ययन करेगा।

Devi Maa Dental

यह एलयू की ग्यारहवीं फैकल्टी है। अन्य संकायों में कला, विज्ञान, वाणिज्य, कानून, शिक्षा, ललित कला, इंजीनियरिंग, यूनानी, आयुर्वेद और योग और वैकल्पिक चिकित्सा शामिल हैं।

परिषद ने इंजीनियरिंग संकाय में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में बी.टेक और फार्मास्युटिकल साइंसेज संस्थान में बी.फार्मा और डी.फार्मा में पाठ्यक्रमों को भी मंजूरी दी।

--आईएएनएस

एनपी/आरजेएस