रावत ने कहा- सिद्धू से मुलाकात खत्म होने पर सोनिया को नोट सौंपा

नई दिल्ली, 16 जुलाई (आईएएनएस)। ऐसा लग रहा है कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह द्वारा नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब का अध्यक्ष नियुक्त करने के विरोध को सुना गया है और सोनिया गांधी, राहुल गांधी, हरीश रावत और सिद्धू के बीच शुक्रवार को हुई बैठक जल्द खत्म हो गई।
 | 
रावत ने कहा- सिद्धू से मुलाकात खत्म होने पर सोनिया को नोट सौंपा नई दिल्ली, 16 जुलाई (आईएएनएस)। ऐसा लग रहा है कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह द्वारा नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब का अध्यक्ष नियुक्त करने के विरोध को सुना गया है और सोनिया गांधी, राहुल गांधी, हरीश रावत और सिद्धू के बीच शुक्रवार को हुई बैठक जल्द खत्म हो गई।

बैठक के बाद हरीश रावत ने कहा, मैंने पार्टी अध्यक्ष को एक नोट सौंप दिया है और जैसा वह फैसला करेंगी, उसे सार्वजनिक किया जाएगा।

Bansal Saree

यह पूछे जाने पर कि सिद्धू को पार्टी अध्यक्ष बनाया जाएगा, रावत ने जवाब दिया, किसने कहा कि सिद्धू को पार्टी अध्यक्ष बनाया जाएगा।

10 जनपथ स्थित सोनिया गांधी के आवास से निकलने के बाद सिद्धू ने मीडिया से कोई बात नहीं की।

Devi Maa Dental

इससे पहले दोपहर में असंतुष्ट कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू और पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत सोनिया गांधी से मिलने 10 जनपथ पहुंचे।

सूत्रों ने बताया कि यह बैठक उन अटकलों के मद्देनजर हुई है कि सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की संभावना है, जिससे मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह नाराज हो गए थे।

सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस एक दलित और एक उच्च जाति के हिंदू को कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में नियुक्त करने पर विचार कर रही है। लेकिन, अमरिंदर सिंह की नाखुशी ने पार्टी को कुछ और सोचने पर मजबूर कर दिया है।

कार्यकारी अध्यक्ष पद के लिए राज कुमार वेरका और संतोख चौधरी के नामों पर विचार किया जा रहा है क्योंकि दोनों दलित हैं और अकाली दल-बसपा गठबंधन के प्रभाव का मुकाबला कर सकते हैं।

जबकि हिंदू समुदाय से एक और समीकरण को संतुलित करने के लिए है, विजय इंदर सिंगला को एक और कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया जा सकता है। इतना ही नहीं, पार्टी विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में मंत्रिमंडल में फेरबदल करने और राज्य में दलित समुदाय को अधिक प्रतिनिधित्व देने पर विचार कर रही है।

पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने गुरुवार को कहा था कि इसमें कुछ समय लग सकता है लेकिन राज्य में समीकरण को संतुलित करने के लिए पार्टी सिद्धू को प्रमुख पद पर नियुक्त करने के फार्मूले पर काम कर रही है, जबकि अमरिंदर सिंह पहले ही कह चुके हैं कि वह आलाकमान के फैसले का पालन करेंगे।

रावत ने कहा था, पार्टी दो कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति के फार्मूले पर काम कर रही है और चुनाव मुख्यमंत्री के नेतृत्व में लड़ा जाएगा।

--आईएएनएस

आरएचए/एएनएम