यूपी में नकली प्रोटीन सप्लीमेंट बनाने वाली फैक्ट्री का भांडाफोड़

मेरठ, 12 सितम्बर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने मेरठ में एक नकली विदेशी प्रोटीन सप्लीमेंट सप्लाई चेन का भंडाफोड़ किया है।
 | 
यूपी में नकली प्रोटीन सप्लीमेंट बनाने वाली फैक्ट्री का भांडाफोड़ मेरठ, 12 सितम्बर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने मेरठ में एक नकली विदेशी प्रोटीन सप्लीमेंट सप्लाई चेन का भंडाफोड़ किया है।

एक फैक्ट्री में छापेमारी के दौरान एसटीएफ को सैकड़ों विदेशी लेबल वाले बैग, बोतलें, बॉक्स, होलोग्राम और भारी मात्रा में सप्लीमेंट मिले।

हरियाणा, दिल्ली, पंजाब और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में आपूर्ति की जाने वाली इन थैलियों और बक्सों में भारी स्टेरॉयड से लदी खुराक मिली।

Bansal Saree

मेरठ के सर्किल ऑफिसर (सीओ) एसटीएफ बृजेश सिंह के अनुसार, हमने एक सरताज अल्वी को गिरफ्तार किया है, जो पांच साल से इस प्रतिष्ठान को चला रहा था। स्टिकर और होलोग्राम के अलावा, हमने लगभग 15 क्विंटल सप्लीमेंट भी जब्त किया, जिसकी कीमत लगभग 20 लाख रुपए है।

आरोपी ने खुलासा किया है कि दिल्ली के बवाना इंडस्ट्रियल एरिया में एक और गोदाम है। उसने ये बोतलें और कंटेनर दिल्ली के रोशन कुमार से खरीदे, जबकि सप्लीमेंट्स मेरठ के खैरनगर के जावेद अहमद से 100 रुपये प्रति किलो के हिसाब से खरीदे गए। इन बक्सों और बोतलों में पैक होने के बाद ये 1,400 से 1,800 रुपये में बिकते थे।

मेरठ के शाहपीर गेट निवासी शाहवेज अहमद ने विदेशी कंपनियों के स्टिकर, लेबल और बैग की आपूर्ति की।

अल्वी के खिलाफ शनिवार को ब्रह्मपुरी पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 419 (धोखाधड़ी), 420 (धोखाधड़ी), 467 (जालसाजी), 468 (धोखाधड़ी के उद्देश्य से जालसाजी), 471 (धोखाधड़ी) और प्रासंगिक कॉपीराइट अधिनियम की धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। ।

Devi Maa Dental

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की नामित अधिकारी अर्चना धीरन ने कहा कि हमने मिलावटी सामान को जब्त कर लिया है और इसे परीक्षण के लिए प्रयोगशाला में भेज दिया है और रिपोर्ट का इंतजार है। जब भी हमें ऐसी सूचना मिलती है, हम हर समय छापेमारी करते रहते हैं।

--आईएएनएस

एमएसबी/आरएचए