माई गुरुग्राम ऐप पर अब प्रदूषण, मौसम और पार्किं ग की जानकारी मिलेगी

गुरुग्राम, 13 सितम्बर (आईएएनएस)। गुरुग्राम के निवासी जल्द ही प्रदूषण, मौसम और पार्किं ग के बारे में नवीनतम जानकारी सीधे गुरुग्राम मेट्रोपॉलिटन डेवलपमेंट अथॉरिटी (जीएमडीए) द्वारा विकसित माई गुरुग्राम ऐप पर प्राप्त कर सकेंगे।
 | 
माई गुरुग्राम ऐप पर अब प्रदूषण, मौसम और पार्किं ग की जानकारी मिलेगी गुरुग्राम, 13 सितम्बर (आईएएनएस)। गुरुग्राम के निवासी जल्द ही प्रदूषण, मौसम और पार्किं ग के बारे में नवीनतम जानकारी सीधे गुरुग्राम मेट्रोपॉलिटन डेवलपमेंट अथॉरिटी (जीएमडीए) द्वारा विकसित माई गुरुग्राम ऐप पर प्राप्त कर सकेंगे।

प्राधिकरण ने मौसम विभाग (आईएमडी) और केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) की वेबसाइटों को इस ऐप से जोड़ा है।

इसके अलावा शहरवासियों को शहर में पार्किं ग स्थल की उपलब्धता के बारे में भी जानकारी मिलेगी। जीएमडीए के अधिकारियों ने बताया कि इसके लिए संबंधित प्राधिकरण से अलग-अलग इलाकों में स्थित उनके पार्किं ग स्थलों की जानकारी मांगी गई है। पार्किं ग स्थलों का सर्वे भी प्राधिकरण ही कर रहा है।

Bansal Saree

इसके बाद ऐप पर जियो-मैपिंग के जरिए पार्किं ग की जानकारी भी उपलब्ध कराई जाएगी। शहर के निवासी अब अपने नजदीक पार्किं ग स्थल की उपलब्धता देख सकेंगे और यह भी जान सकेंगे कि वहां पहले से कितने वाहन खड़े हैं।

निवासी जिले में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

जीएमडीए द्वारा 10 अगस्त, 2019 को माई गुरुग्राम ऐप लॉन्च किया गया था, लेकिन ये केवल ट्रैफिक प्रबंधन से संबंधित जानकारी देता था। अधिकारियों के मुताबिक अब तक करीब दस हजार लोग इस ऐप को डाउनलोड कर चुके हैं।

अधिकारियों ने कहा कि लोग इस ऐप के जरिए पानी और बिजली बिल, संपत्ति कर के ऑनलाइन भुगतान की सुविधा का भी फायदा उठा सकेंगे। इस ऐप पर शहर के ऐतिहासिक स्थलों, प्रशासन से संबंधित सीसीटीवी कैमरे, वाटर फ्लो मीटर, स्ट्रीट लाइट सहित अन्य जानकारियां भी मिल सकती हैं। साथ ही वाहनों के ई-चालान देखे जा सकते हैं और उनका भुगतान भी किया जा सकता है।

Devi Maa Dental

स्मार्ट सिटी डिवीजन, जीएमडीए, सलाहकार, पी अग्रवाल ने कहा, माई गुरुग्राम ऐप पर भी मौसम और प्रदूषण के स्तर को देखा जा सकता है। इसके लिए ऐप को आईएमडी और सीपीसीबी की वेबसाइटों से जोड़ा गया है। जल्द ही इस ऐप पर लोगों को पार्किं ग स्थल की जानकारी भी उपलब्ध कराई जाएगी।

--आईएएनएस

एसएस/आरजेएस