महिला सिपाही के साथ अश्लील हरकत करने वाला राजस्थान का पुलिस अधिकारी गिरफ्तार

जयपुर, 10 सितम्बर (आईएएनएस)। राजस्थान पुलिस ने आरपीएस अधिकारी हीरालाल सैनी को हिरासत में ले लिया है। उनके खिलाफ ये कार्रवाई एक वीडियो वायरल होने के बाद की गई है जिसमें वो एक स्विमिंग पूल में एक महिला कांस्टेबल के साथ यौन इशारों में लिप्त देखे जा सकते हैं।
 | 
महिला सिपाही के साथ अश्लील हरकत करने वाला राजस्थान का पुलिस अधिकारी गिरफ्तार जयपुर, 10 सितम्बर (आईएएनएस)। राजस्थान पुलिस ने आरपीएस अधिकारी हीरालाल सैनी को हिरासत में ले लिया है। उनके खिलाफ ये कार्रवाई एक वीडियो वायरल होने के बाद की गई है जिसमें वो एक स्विमिंग पूल में एक महिला कांस्टेबल के साथ यौन इशारों में लिप्त देखे जा सकते हैं।

बुधवार को वायरल हुए वीडियो में अधिकारी को कथित तौर पर कांस्टेबल के बेटे के साथ अश्लील इशारे करते देखा गया। एसओजी टीम की चाइल्ड पोर्नोग्राफी यूनिट ने गुरुवार देर रात उसे उदयपुर के एक रिसॉर्ट से गिरफ्तार कर आगे की जांच के लिए जयपुर ले आई।

एसओजी को डीएसपी के अनंत रिजॉर्ट में होने की सूचना मिली और सैनी को हिरासत में लेने के लिए रात 11 बजे वहां पहुंचे।

Bansal Saree

दोनों पुलिसकर्मियों को एक दिन पहले निलंबित कर दिया गया और गिरफ्तारी से पहले ही उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

वीडियो क्लिप में कथित तौर पर अजमेर के बेवर के सर्कल ऑफिसर के रूप में काम करने वाले सैनी को जयपुर पुलिस कमिश्नरेट की महिला कांस्टेबल के साथ स्विमिंग पूल में यौन गतिविधियों में लिप्त दिखाया गया है।

महिला कांस्टेबल के पति ने बताया कि उसने अपनी पत्नी और आरपीएस अधिकारी के खिलाफ नागौर जिले के चितवा थाने में शिकायत दर्ज कराई है। अपनी शिकायत में, उन्होंने कहा कि उनकी शादी 2001 में हुई थी। उन्हें छह साल पहले एक बच्चे का आशीर्वाद मिला था और 2008 में उन्हें राजस्थान पुलिस में एक कांस्टेबल की नौकरी मिल गई।

Devi Maa Dental

उनके अनुसार, उनकी पत्नी ने 13 जुलाई को वीडियो अपलोड किया था जिसमें वह अपने नाबालिग बेटे की मौजूदगी में एक स्विमिंग पूल में आरपीएस अधिकारी के साथ यौन गतिविधियों में लिप्त दिख रही थीं।

वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद, बुधवार को दोनों कर्मियों को निलंबित कर दिया गया।

कांस्टेबल के पति की ओर से की गई शिकायत को डीजीपी के कार्यालय भेज दिया गया है। इनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

आरपीएस अधिकारी ने दावा किया है कि यह एक फर्जी वीडियो क्लिप थी।

--आईएएनएस

एसएस/आरजेएस