महाराष्ट्र : भारी बारिश के बाद पहाड़ी पर फंसे 116 लोगों को पुलिस ने बचाया

ठाणे, 19 जुलाई (आईएएनएस)। नवी मुंबई पुलिस और फायर ब्रिगेड ने मिलकर कम से कम ऐसे 116 लोगों को बचाया है, जो भारी बारिश के चलते रविवार को एक पहाड़ी पर फंस गए थे। ये सभी पिकनिक मनाने के लिए पहाड़ी पर गए हुए थे और जब ये वापस लौटने वाले थे, तब भारी बारिश के चलते इनकी वापसी का रास्ता बंद हो गया। एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी है।
 | 
महाराष्ट्र : भारी बारिश के बाद पहाड़ी पर फंसे 116 लोगों को पुलिस ने बचाया ठाणे, 19 जुलाई (आईएएनएस)। नवी मुंबई पुलिस और फायर ब्रिगेड ने मिलकर कम से कम ऐसे 116 लोगों को बचाया है, जो भारी बारिश के चलते रविवार को एक पहाड़ी पर फंस गए थे। ये सभी पिकनिक मनाने के लिए पहाड़ी पर गए हुए थे और जब ये वापस लौटने वाले थे, तब भारी बारिश के चलते इनकी वापसी का रास्ता बंद हो गया। एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी है।

बचाए गए इन लोगों में कम से कम 78 महिलाएं और पांच बच्चे शामिल थे, जो खारघर की हरी-भरी वादियों में पिकनिक मनाने के लिए गए हुए थे।

Bansal Saree

खारघर पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक एस. माली ने बताया कि ये लोग सुबह के वक्त पानी की एक धारा को पार कर जाने में सफल रहे। हालांकि दोपहर तक यह धार काफी ज्यादा उफान पर आ गई, जिससे पिकनिक मनाने के लिए गए लोगों का इसे पार कर वापस घर लौटना नामुमकिन था। इसके बाद घबराए हुए इन लोगों ने पुलिस और फायर बिग्रेड को फोन किया, जिनके द्वारा जल्द ही रविवार देर रात को दो घंटे की समयसीमा वाले बचाव अभियान की शुरूआत की गई।

लगभग 15 दमकल कर्मियों की एक बचाव टीम ने पानी की इस चौड़ी धार में टिके रहने के लिए सीढ़ी और नायलॉन की मोटी रस्सियों का सहारा लिया और बिना किसी चोट के असहाय लोगों को पार करने में मदद की।

Devi Maa Dental

नवी मुंबई पुलिस ने अतीत में हुई कई दुखद घटनाओं के कारण पिछले महीने से खारघर में पांडवकडा झरने और अन्य स्थानीय लोकप्रिय पहाड़ी पिकनिक स्थलों में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था। हालांकि, ग्रामीणों को इस बात का अफसोस है कि पुलिस की मौजूदगी में भी नवी मुंबई, ठाणे और मुंबई के लोग अभी भी किसी न किसी तरह से यहां चले ही जाते हैं और खुद को जोखिम में डाल देते हैं।

माली ने एक बार फिर से चेतावनी देते हुए कि अगर कोई इन क्षेत्रों में प्रवेश करता हुआ पाया गया, तो उसे बख्शा नहीं जाएगा।

--आईएएनएस

एएसएन/एएनएम