भारत ने नई पीढ़ी की आकाश मिसाइल का सफल परीक्षण किया

नई दिल्ली, 21 जुलाई (आईएएनएस)। भारत ने बुधवार को नई पीढ़ी की सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल आकाश मिसाइल (आकाश-एनजी) का ओडिशा तट के एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) से सफलतापूर्वक परीक्षण किया।
 | 
भारत ने नई पीढ़ी की आकाश मिसाइल का सफल परीक्षण किया नई दिल्ली, 21 जुलाई (आईएएनएस)। भारत ने बुधवार को नई पीढ़ी की सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल आकाश मिसाइल (आकाश-एनजी) का ओडिशा तट के एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) से सफलतापूर्वक परीक्षण किया।

उड़ान का परीक्षण भूमि आधारित प्लेटफॉर्म से दोपहर करीब 12:45 बजे किया गया, जिसमें मल्टीफंक्शन रडार, कमांड, कंट्रोल एंड कम्युनिकेशन सिस्टम और तैनाती विन्यास में भाग लेने वाले लांचर जैसी सभी हथियार प्रणालियां थीं।

Bansal Saree

मिसाइल प्रणाली को रक्षा अनुसंधान एवं विकास प्रयोगशाला (डीआरडीएल), हैदराबाद द्वारा अन्य डीआरडीओ प्रयोगशालाओं के सहयोग से विकसित किया गया है।

इस प्रक्षेपण को भारतीय वायु सेना के नुमाइंदों ने देखा। उड़ान डेटा को हासिल करने के लिए आईटीआर ने इलेक्ट्रो ऑप्टिकल ट्रैकिंग सिस्टम, रडार और टेलीमेट्री जैसे कई रेंज स्टेशनों को तैनात किया। इन प्रणालियों द्वारा कैप्चर किए गए संपूर्ण उड़ान डेटा से संपूर्ण हथियार प्रणाली के दोषरहित प्रदर्शन की पुष्टि की गई है।

Devi Maa Dental

डीआरडीओ ने एक बयान में कहा, परीक्षण के दौरान, मिसाइल ने तेज और फुतीर्ले हवाई खतरों को बेअसर करने के लिए आवश्यक उच्चस्तरीय गतिशीलता का प्रदर्शन किया।

एक बार तैनात होने के बाद आकाश-एनजी हथियार प्रणाली भारतीय वायु सेना की हवाई सुरक्षा क्षमता में शानदार इजाफा करने वाली साबित होगी। उत्पादन एजेंसियों भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) और भारत डायनेमिक्स लिमिटेड (बीडीएल) ने भी परीक्षणों में भाग लिया।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सफल परीक्षण के लिए डीआरडीओ, बीडीएल, बीईएल, भारतीय वायु सेना और उद्योग को बधाई दी है।

रक्षा विभाग के सचिव अनुसंधान एवं विकास विभाग और डीआरडीओ के अध्यक्ष ने टीम के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि यह मिसाइल भारतीय वायु सेना को मजबूत करेगी।

--आईएएनएस

एकेके/एएनएम