तमिलनाडु में गंगा नदी के जिक्र पर डीएमके सांसद विल्सन हैरान

चेन्नई, 21 जुलाई (आईएएनएस)। डीएमके के राज्यसभा सदस्य पी. विल्सन यह सोच कर हैरान है कि गंगा नदी तमिलनाडु के किस हिस्से में बह रही है, क्योंकि राज्य में खर्च किए गए कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) फंड में स्वच्छ गंगा फंड का जिक्र है।
 | 
तमिलनाडु में गंगा नदी के जिक्र पर डीएमके सांसद विल्सन हैरान चेन्नई, 21 जुलाई (आईएएनएस)। डीएमके के राज्यसभा सदस्य पी. विल्सन यह सोच कर हैरान है कि गंगा नदी तमिलनाडु के किस हिस्से में बह रही है, क्योंकि राज्य में खर्च किए गए कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) फंड में स्वच्छ गंगा फंड का जिक्र है।

विल्सन ने तमिलनाडु में खर्च किए गए सीएसआर फंड की राशि और उन परियोजनाओं पर सवाल उठाया, जहां इसे खर्च किया गया था।

Bansal Saree

कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय में राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने अपने लिखित जवाब में सीएसआर योजना को नियंत्रित करने वाले कानून की व्याख्या करते हुए कहा कि कंपनियों द्वारा अपने बोर्ड के फैसले के अनुसार धन खर्च किया जाता है।

उन्होंने कहा कि वित्त वर्ष 18 के दौरान तमिलनाडु में खर्च किए गए सीएसआर की राशि 627.75 करोड़ रुपये (1,305 कंपनियां), वित्त वर्ष 2019 में 829.27 करोड़ रुपये (1,453 कंपनियां) और वित्त वर्ष 2020 में 919.05 करोड़ रुपये (1,316 कंपनियां) थी।

Devi Maa Dental

खर्च किए गए सीएसआर फंड के क्षेत्रवार बंटवारे के संबंध में, वित्त वर्ष 2020 के लिए स्वच्छ गंगा कोष के लिए 0.26 करोड़ रुपये की राशि का उल्लेख किया गया है और वित्त वर्ष 2018 और 2019 के लिए क्रमश: 0.13 करोड़ रुपये का उल्लेख किया गया है।

विल्सन ने ट्वीट किया, टीएन में सीएसआर फंड के आवंटन पर मेरे सवाल के लिए, माननीय मंत्री ने जवाब दिया है कि टीएन फंड का एक हिस्सा स्वच्छ गंगा फंड के लिए इस्तेमाल किया गया है। मुझे नहीं पता था कि गंगा तमिलनाडु में बहती है।

--आईएएनएस

एमएसबी/आरजेएस