गोवा : जमीन हड़पने के मामले में एसआईटी ने सरकारी कर्मचारी को किया गिरफ्तार

पणजी, 24 जून (आईएएनएस)। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत द्वारा भूमि हथियाने के मामलों में भ्रष्ट सरकारी अधिकारियों की संभावित गिरफ्तारी के संकेत के कुछ दिनों बाद, विशेष जांच दल (एसआईटी) ने शुक्रवार को अभिलेखागार विभाग के एक कर्मचारी को उसकी कथित संलिप्तता के लिए गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इसकी जानकारी दी है।
 | 
गोवा : जमीन हड़पने के मामले में एसआईटी ने सरकारी कर्मचारी को किया गिरफ्तार पणजी, 24 जून (आईएएनएस)। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत द्वारा भूमि हथियाने के मामलों में भ्रष्ट सरकारी अधिकारियों की संभावित गिरफ्तारी के संकेत के कुछ दिनों बाद, विशेष जांच दल (एसआईटी) ने शुक्रवार को अभिलेखागार विभाग के एक कर्मचारी को उसकी कथित संलिप्तता के लिए गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इसकी जानकारी दी है।

अपराध शाखा के पुलिस अधीक्षक निधि वलसन ने आईएएनएस को बताया कि अभिलेखागार विभाग में कार्यरत धीरेश नाइक को भूमि हथियाने के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है और आगे की जांच जारी है।

सूत्रों के मुताबिक, जमीन हथियाने के मामलों की जांच कर रही एसआईटी जमीन के मालिकाना हक से जुड़े दस्तावेजों को बदलने और जाली बनाने में उनकी भूमिका पर संदेह जताते हुए अभिलेखागार, राजस्व और अन्य संबंधित विभागों के और सरकारी अधिकारियों को जांच के लिए तलब कर सकती है।

krishna hospital

इससे पहले मुख्यमंत्री सावंत ने कहा था कि फर्जी दस्तावेज में संलिप्त सरकारी कर्मचारियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

गोवा सरकार ने निधि वलसन की अध्यक्षता वाली एसआईटी में 22 और अधिकारियों को शामिल किया था और कहा था कि वह मामले की जड़ तक पहुंचने और दोषियों के खिलाफ मामला दर्ज करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

सावंत ने कहा था, हमने टीम में 22 और अधिकारियों को शामिल कर अवैध जमीन हड़पने/हस्तांतरण मामलों की जांच के लिए गठित एसआईटी को मजबूत करने का फैसला किया है। हम मामले की जड़ तक पहुंचने और दोषियों के खिलाफ मामला दर्ज करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

इससे पहले, दक्षिण गोवा के मडगांव से विक्रांत शेट्टी और चित्रदुर्ग-कर्नाटक के मूल निवासी मोहम्मद सुहैल, दोनों को जमीन पर कब्जा करने में कथित संलिप्तता के लिए गिरफ्तार किया गया था।

chaitanya

--आईएएनएस

एसकेके