एक भी दिन ऐसा नहीं गुजरता जब बीजेपी का कोई नेता पार्टी नहीं छोड़ता : शरद पवार

नई दिल्ली, 13 जनवरी (आईएएनएस)। राष्ट्रवादी कांग्रेस (एनसीपी ) के प्रमुख शरद पवार ने गुरुवार को उत्तरप्रदेश में चुनाव से ठीक पहले बीजेपी विधायकों के पार्टी छोड़ने के सिलसिले पर कहा एक भी दिन ऐसा नहीं गुजरता जब बीजेपी का कोई नेता पार्टी नहीं छोड़ता।
 | 
एक भी दिन ऐसा नहीं गुजरता जब बीजेपी का कोई नेता पार्टी नहीं छोड़ता : शरद पवार नई दिल्ली, 13 जनवरी (आईएएनएस)। राष्ट्रवादी कांग्रेस (एनसीपी ) के प्रमुख शरद पवार ने गुरुवार को उत्तरप्रदेश में चुनाव से ठीक पहले बीजेपी विधायकों के पार्टी छोड़ने के सिलसिले पर कहा एक भी दिन ऐसा नहीं गुजरता जब बीजेपी का कोई नेता पार्टी नहीं छोड़ता।

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा, एक भी दिन ऐसा नहीं गुजरता जब बीजेपी का कोई नेता पार्टी नहीं छोड़ता। उदाहरण के तौर पर उत्तरप्रदेश को ही लीजिए, 13 विधायक दूसरी पार्टी में शामिल होने के लिए बीजेपी छोड़ रहे हैं। मुझे पता चला है कि भाजपा के चार विधायक आज ही पार्टी छोड़ रहे हैं।

Bansal Saree

गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के साथ गठबंधन कर लिया है। सपा ने शरद पवार और टीएमसी को चुनाव में एक-एक सीट देने का फैसला किया है। एनसीपी नेता केके शर्मा को बुलंदशहर की अनूपशहर सीट से उतारने का फैसला लिया गया है। वहीं, कांग्रेस छोड़कर हाल ही में टीएमसी में शामिल हुए ललितेश पति त्रिपाठी मिजार्पुर से सपा गठबंधन के संयुक्त प्रत्याशी बनकर चुनाव लड़ेंगे।

उत्तरप्रदेश में सपा के साथ चुनाव लड़ने जा रही एनसीपी महाराष्ट्र में कांग्रेस और शिवसेना के साथ सरकार चला रही है। एनसीपी के सपा के साथ जाने से यह साफ हो गया शरद पवार की पार्टी सभी सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुकी कांग्रेस और शिवसेना के खिलाफ लड़ेगी। शरद पवार ने एक दिन पहले ही सपा के साथ गठबंधन को लेकर बातचीत की जानकारी देते हए कहा था कि वह अखिलेश के लिए प्रचार भी करेंगे।

Devi Maa

वहीं शिवसेना सांसद संजय राउत ने गुरुवार को साफ कर दिया कि वह वैचारिक मतभेद के चलते समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि शिवसेना उत्तर प्रदेश में किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन का हिस्सा नहीं होगी। उन्होंने कहा कि शिवसेना लंबे समय से उत्तरप्रदेश में काम कर रही हैं। लेकिन चुनाव अब तक नहीं लड़ा क्योंकि बीजेपी को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहते थे। सजंय राउत ने गुरुवार को पश्चिमी उत्तरप्रदेश पहुँचकर किसान नेता राकेश टिकैत से भी मुलाकात की।

दूसरी ओर उत्तरप्रदेश में अकेले चुनावी मैदान में उतरी कांग्रेस ने गुरुवार को अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी। कांग्रेस की पहली सूची में 125 उम्मीदवारों का ऐलान किया गया है। इसमें 50 महिलाए शामिल हैं।

--आईएएनएस/

पीटीके/आरजेएस