Rohilkhand University Exam 2020: बरेली कॉलेज में लेट आने पर नहीं मिलेगी एंट्री

बरेली: Rohilkhand University Exam 2020:रूहेलखंड यूनिवर्सिटी (MJPRU University) की परीक्षाओं में देर से आने वाले...
 | 
Rohilkhand University Exam 2020: बरेली कॉलेज में लेट आने पर नहीं मिलेगी एंट्री

बरेली: Rohilkhand University Exam 2020:रूहेलखंड यूनिवर्सिटी (MJPRU University) की परीक्षाओं में देर से आने वाले छात्रों को बरेली कॉलेज (Bareilly College) में प्रवेश (Entry) नहीं मिल पाएगा।  कॉलेज के गेट पर ही परीक्षार्थियों के मोबाइल, बैग,पर्स आदि सामान जमा कर लिया जाएगा और उन्हें एक रसीद (Receipt) दी जाएगी। सीसीटीवी के जरिए निगरानी की जाएगी, कंट्रोल रूम (Control Room) में बीसीए विभाग के दो टीचरों को नियुक्त किया जाएगा।
Rohilkhand University Exam 2020: बरेली कॉलेज में लेट आने पर नहीं मिलेगी एंट्री
बरेली कॉलेज में हुई परीक्षा समिति की बैठक जिसमें प्राचार्य डॉ अनुराग मोहन ने बताया कि डॉ. राजीव मल्होत्रा को मुख्य परीक्षा नियंत्रक बनाया गया है। डॉ. आलोक खरे और डॉ. मनमीत कौर को सहायक परीक्षा नियंत्रक होंगे। डॉ. मंजू सिंह को सुबह, डॉ. पीएन सक्सेना को दोपहर और डॉ. पंपा गौतम को शाम की पाली में परीक्षा केंद्र अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

Devi Maa Dental

अतिरिक्‍त सहायक केंद्र अध्यक्ष की सूची वरिष्ठता के आधार पर तैयार की जा रही है। ताकि किसी के अनुपस्थित होने पर काम में कोई प्रभाव न पड़े।परीक्षा के लिए बाहरी शिक्षक को कक्ष निरीक्षक बनाने से पहले उनका सत्यापन किया जाएगा। परीक्षा से पहले ही नये परीक्षा भवन का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है। अधिक संख्या होने पर परीक्षा वहां कराई जाएगी बिजली,पानी, सीसीटीवी आदि की उचित व्‍यवस्‍था की गई है।

यूनिवर्सिटी के नियम के अनुसार परीक्षाओं में परीक्षा शुरू होने से 30 मिनट तक प्रवेश दिया जाएगा। इसके बाद कॉलेज का गेट बंद कर दिया जाएगा। डॉ. वीपी सिंह ने कहा कि कुछ परीक्षाओं में कैलकुलेटर लाने पर छूट होती है जबकि जानकारी ना होने पर सचल दल में शामिल शिक्षक कैलकुलेटर अंदर लाने नहीं देते हैं इस पर हर बार हंगामा होता है। प्राचार्य ने कहा ऐसे प्रश्न पत्रों का यूनिवर्सिटी से पता लगा कर स्थिति स्पष्ट कर दी जाएगी।

Bansal Saree

बैठक में प्रॉक्‍टोरियल टीम में शामिल शिक्षकों को परीक्षा के सचल दल में शामिल होने पर आपत्ति जताई गई। इस पर चीफ प्रॉक्टर डॉ. वंदना शर्मा ने कहा कि कॉलेज में विवाद होने पर कोई भी शिक्षक सामने नहीं आता है तब यही प्रॉक्‍टोरियल टीम के शिक्षक मोर्चा संभालते हैं। इसलिए इनको सचल दल से बाहर नहीं किया जा सकता।