कोविड वैक्सीन नहीं तो टर्म इंश्योरेंस नहीं ! बीमा कंपनियों ने सख्त किए नियम

 | 

Covid Vaccination कोविड काल में बीमा कंपनियां अब इंश्योरेंस पॉलिसी जारी करने में काफी सख्त रवैया अपना रही हैं. खबर यह है कि कई बीमा कंपनियों ने अब टर्म इंश्योरेंस के लिए वैक्सीनेशन की शर्त रख दी है, अगर वैक्सीनेशन नहीं तो टर्म इंश्योरेंस भी नहीं मिलेगा यानी जिन लोगों ने कोविड वैक्सीन लगवाई है, उन्हीं को टर्म इंश्योरेंस मिलेगा. इसके पहले भी बीमा कंपनियों ने कोविड मरीजों को टर्म पॉलिसी देने में सख्ती दिखाई थी. कंपनियां कोविड पेशेंट के रिकवर होने के बाद कम से कम तीन महीने के गैप के बाद ही पॉलिसी देना स्वीकार कर रही हैं. इस बार में भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDAI) की राय अभी सामने नहीं आई है.

Devi Maa Dental

टीका लगवाने की शर्त 

इकोनॉमिक टाइम्स की एक खबर के अनुसार, मैक्स लाइफ इंश्योरेंस कंपनी 45 साल के ऊपर के सिर्फ उन्हीं लोगों को टर्म पॉलिसी दे रही है, जिन्होंने कोविड वैक्सीन का दोनों डोज लगवा लिया हो. इसी तरह टाटा AIA हर आयु वर्ग के सिर्फ उन्हीं लोगों को टर्म पॉलिसी जारी कर रही है, जिन्होंने कोविड वैक्सीन का कम से कम पहला डोज लगवा लिया हो. ICICI Prudential, Tata AIA and Aegon Life जैसी बीमा कंपनियों ने वैक्सीनेशन के बाद 7-15 दिन का कूलिंग ऑफ पीरियड भी रखा है. जहां नई पॉलिसी एप्लीकेशन को अस्थायी रूप से स्थगित किया जा रहा है. ICICI Prudential के प्रवक्ता ने ET को बताया कि कई बार ऐसा देखा गया है कि कोविड-19 के टीके लगने के बाद कुछ लोगों में अतिसंवेदनशीलता या दूसरे रिएक्शन सामने आते हैं.

Bansal Saree

बीमा कंपनियों का जवाब 

Tata AIA के प्रवक्ता ने The Economid Times को बताया कि हमारे पॉलिसीधारकों को उच्चतम स्तर की वित्तीय सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए, हम सुनिश्चित करते हैं कि उनके हितों की हर समय रक्षा की जाए. प्रवक्ता ने कहा कि हमारी नीतियां उभरती हुई वास्तविकताओं को दर्शाती हैं. हम अपनी कामों में में उपभोक्ता-केंद्रित होने के साथ-साथ विवेकपूर्ण भी बने हुए हैं. हालांकि Max Life ने इस मुद्दे पर कोई भी कमेंट अबतक नहीं दिया है. यानी उन लोगों को कंपनियां टर्म इंश्ंयोरेंस नहीं दे रही हैं जिन्होंने वैक्सीन की डोज नहीं ली है. 

नये नियम-कायदे

गौरतलब है कि इसके पहले भी टर्म पॉलिसी देने के लिए बीमा कंपनियों ने काफी सख्ती दिखाई थी. लाइफ इंश्‍योरेंस कंपनियों के नए नियमों के मुताबिक, होम आइसोलेशन के जरिए भी आप कोविड-19 नेगेटिव होते हैं, तो 3 महीने तक किसी भी इंश्योरेंस कंपनी से टर्म इंश्योरेंस प्लान नहीं खरीद सकते हैं. इसके अलावा टेलीमेडिकल की जगह अब टर्म इंश्योरेंस के लिए कंपनियां संपूर्ण मेडिकल टेस्ट पर ही जोर दे रही हैं.