डिलीवरी के लिए ड्रोन टेस्ट शुरू करने वाला पहला राज्य बना तेलंगाना

हैदराबाद, 9 सितम्बर (आईएएनएस)। तेलंगाना देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने दूरदराज के इलाकों में स्वास्थ्य केंद्रों तक ड्रोन से वैक्सीन पहुंचाने के लिए ट्रायल रन शुरू किया है।
 | 
डिलीवरी के लिए ड्रोन टेस्ट शुरू करने वाला पहला राज्य बना तेलंगाना हैदराबाद, 9 सितम्बर (आईएएनएस)। तेलंगाना देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने दूरदराज के इलाकों में स्वास्थ्य केंद्रों तक ड्रोन से वैक्सीन पहुंचाने के लिए ट्रायल रन शुरू किया है।

राज्य सरकार की मेडिसिन फ्रॉम द स्काई परियोजना के तहत ड्रोन का दो दिवसीय टेस्ट गुरुवार को विकाराबाद शहर में शुरू हुआ था।

विकाराबाद जिला कलेक्टर के. निखिला ने परेड ग्राउंड में ट्रायल रन का औपचारिक उद्घाटन किया था।

500 मीटर दूर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के लिए विकाराबाद जिला अस्पताल से 2-3 किलोग्राम वजन के बक्से 400 फीट की ऊंचाई तक उड़ान भरते थे।

Bansal Saree

उन्होंने कहा, भारत में यह पहली बार है कि ड्रोन तकनीक का इस्तेमाल करके दूर-दराज के इलाकों में वैक्सीन या दवाएं पहुंचाने के लिए ट्रायल रन किया जा रहा है।

तीन चरण के परीक्षण में एक दिन में छह उड़ानें होंगी, जिसमें प्रत्येक ड्रोन तापमान नियंत्रित बक्से में 175 टीके ले जाएगा।

इस परियोजना को औपचारिक रूप से 11 सितंबर को नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और तेलंगाना के उद्योग और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री के.टी. रामा राव द्वारा लॉन्च किया जाएगा।

मेडिसिन फ्रॉम द स्काई विश्व आर्थिक मंच, नीति आयोग और हेल्थनेट ग्लोबल (अपोलो हॉस्पिटल्स) के साथ साझेदारी में आईटीई एंड सी विभाग के इमजिर्ंग टेक्नोलॉजीज विंग की अगुवाई वाली तेलंगाना सरकार की एक पहल है।

Devi Maa Dental

इस परियोजना में विकाराबाद जिले के पहचाने गए हवाई क्षेत्र का उपयोग करके टीकों की डिलीवरी के लिए प्रायोगिक बियॉन्ड विजुअल लाइन ऑफ साइट (बीवीएलओएस) ड्रोन उड़ानें शामिल हैं।

परियोजना को नागरिक उड्डयन मंत्रालय से अंतिम नियामक मंजूरी मिल गई है।

आठ चयनित संघों में से तीन, अर्थात् ब्लूडार्ट मेड एक्सप्रेस कंसोर्टियम (स्काई एयर), हेपिकोप्टर कंसोर्टियम (मारुत ड्रोन) और क्यूरिसफ्लाई कंसोर्टियम (टेकईगल इनोवेशन) पहले ही विकाराबाद पहुंच चुके हैं और वीएलओएस और बीवीएलओएस उड़ानों के माध्यम से अपने ड्रोन का टेस्ट शुरू कर दिया है।

अधिकारियों ने कहा कि लॉन्च के साथ, कंसोर्टिया विश्वसनीयता स्थापित करने के लिए लंबी दूरी और भारी पेलोड बढ़ाने पर अपने ड्रोन के धीरज का टेस्ट करना जारी रखेगा।

यह परियोजना भारत में इस तरह की पहली परियोजना है क्योंकि यह देश में पहला संगठित बीवीएलओएस ड्रोन टेस्ट है और इसे डोमेन के रूप में स्वास्थ्य सेवा में आयोजित किया जा रहा है।

भारतीय ड्रोन डिलीवरी स्टार्ट-अप फर्म स्काई एयर मोबिलिटी, जो परियोजना के लिए संघ का एक हिस्सा है, अधिकांश ड्रोन उड़ानों का संचालन करेगी। स्काई एयर ने इन टेस्टों के संचालन के लिए ड्रोन-आधारित डिलीवरी और ड्रोन उड़ानें प्रदान करने के लिए ब्लू डार्ट एक्सप्रेस के साथ हाथ मिलाया है।

एमएफटीएस प्रोजेक्ट के टेस्ट के पहले दो दिन ²ष्टि की ²श्य रेखा में उड़ान भरेंगे, जिसमें आधार से 500 से 700 मीटर के बीच उड़ान भरने वाले ड्रोन शामिल हैं।

11 सितंबर से, बीवीएलओएस ड्रोन उड़ानें 9-10 किमी की दूरी के लिए होंगी। ये उड़ानें वैक्सीन, चिकित्सा नमूनों और अन्य स्वास्थ्य संबंधी वस्तुओं की खेप के साथ होंगी।

स्काई एयर मोबिलिटी के सह-संस्थापक स्वप्निक जक्कमपुंडी ने कहा, हम तेलंगाना सरकार के साथ इस परियोजना का हिस्सा बनकर बेहद खुश हैं और प्रमुख फर्मों के साथ हमारा गठजोड़ पहला लाइव प्रदर्शन टेस्ट है जो वास्तविक समय में वास्तविक टीकों और दवाओं के साथ किया जा रहा है।

--आईएएनएस

एचके/एएनएम