विश्व पर्यटन दिवस पर अपना आधिकारिक एप लॉन्च करने की योजना बना रहा है राजस्थान

जयपुर, 15 सितम्बर (आईएएनएस)। राजस्थान आने वाले पर्यटकों के पास जल्द ही आधिकारिक मोबाइल एप्लिकेशन होगा, जो राज्य के पर्यटन विभाग की प्रामाणिक जानकारी और पहुंच के बारे में बताएगा।
 | 
विश्व पर्यटन दिवस पर अपना आधिकारिक एप लॉन्च करने की योजना बना रहा है राजस्थान जयपुर, 15 सितम्बर (आईएएनएस)। राजस्थान आने वाले पर्यटकों के पास जल्द ही आधिकारिक मोबाइल एप्लिकेशन होगा, जो राज्य के पर्यटन विभाग की प्रामाणिक जानकारी और पहुंच के बारे में बताएगा।

राजस्थान पर्यटन की आधिकारिक एप्लीकेशन एंड्रायड फोन यूजर्स के लिए गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध कराई जाएगी। एप्लिकेशन को विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर लॉन्च किए जाने की संभावना है। उसी के एक आईओएस संस्करण पर भी काम हो रहा है और आने वाले हफ्तों में लॉन्च किया जाएगा। एप घरेलू, विदेशी और यहां तक कि स्थानीय पर्यटकों के लिए एक भरोसेमंद साथी होगा।

Bansal Saree

राजस्थान के पर्यटन विभाग के निदेशक निशांत जैन (आईएएस) ने कहा, पर्यटन स्थलों, परिवहन के साधनों और अन्य सेवाओं के बारे में सभी जानकारी एप्लिकेशन के माध्यम से उपलब्ध होगी। एक उंगली के क्लिक पर, उपयोगकर्ता यह जान सकेगा कि क्या स्थानीय सेवा प्रदाता विभाग के साथ पंजीकृत है। यह सुरक्षा मुहैया कराएगा और आगंतुकों को आश्वासन देगा।

फिलहाल सूचना विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध है, लेकिन एप्लिकेशन उन लोगों के लिए सुविधा जोड़ देगा जो मोबाइल एप्लिकेशन के साथ अधिक सहज हैं। कई निजी वेबसाइटें भी राजस्थान में पर्यटन के संबंध में जानकारी प्रदान करती रही हैं। हालांकि, एक आधिकारिक एप अधिक विश्वसनीय और वास्तविक समय की जानकारी प्रदान करेगा। यह एप्लिकेशन आगंतुकों के शहर में आने के बाद भी लोकप्रिय पर्यटन स्थलों की यात्रा का समय निर्धारित करने में उनकी सहायता करने की दिशा में एक बड़ा कदम होगा।

Devi Maa Dental

एप इस साल अक्टूबर में राजस्थान में पर्यटन सीजन शुरू होने से ठीक पहले आएगा। कोविड के बाद के परि²श्य में, पर्यटन विभाग के अधिकारी अगले छह महीनों में राज्य में घरेलू पर्यटकों की भारी आमद की उम्मीद कर रहे हैं।

विभाग अपनी नई पर्यटन नीति 2020 के तहत पर्यटकों के लिए नए स्थानों और अनुभवों को विकसित करने की प्रक्रिया में है और संभावित आगंतुकों को इन नए आकर्षणों का पूर्वावलोकन करने के लिए आवेदन एक प्रभावी माध्यम होगा। साथ ही आवेदन के माध्यम से विभाग की योजनाओं एवं गतिविधियों का प्रचार-प्रसार किया जाएगा।

--आईएएनएस

आरएचए/आरजेएस