बारूदी सुरंगों में विस्फोटक हटाते समय मारे गए 2 यमनी नागरिक

सना, 13 जनवरी (आईएएनएस)। देश के लाल सागर बंदरगाह शहर होदेइदाह में एक डिस्पोजल अभियान के दौरान एक बारूदी सुरंगों में विस्फोटक हटाते समय दो यमनी नागरिक मारे गए। एक सैन्य अधिकारी ने यह जानकारी दी।
 | 
बारूदी सुरंगों में विस्फोटक हटाते समय मारे गए 2 यमनी नागरिक सना, 13 जनवरी (आईएएनएस)। देश के लाल सागर बंदरगाह शहर होदेइदाह में एक डिस्पोजल अभियान के दौरान एक बारूदी सुरंगों में विस्फोटक हटाते समय दो यमनी नागरिक मारे गए। एक सैन्य अधिकारी ने यह जानकारी दी।

अधिकारी ने समाचार एजेंसी सिन्हुआ को बताया, एक विस्फोट उस समय हुआ, जब सरकार समर्थक डिमिनरों की एक टीम हुदीदाह के दक्षिणी हिस्सों में हौथी विद्रोही मिलिशिया द्वारा पहले रखी गई बारूदी सुरंगों के एक क्षेत्र को साफ कर रही थी।

उन्होंने पुष्टि की कि विस्फोट में कम से कम तीन अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए।

Bansal Saree

अधिकारी के अनुसार, सभी घायल डिमिनरों को होदेइदाह में सरकार समर्थक यमनी बलों द्वारा संचालित एक नजदीकी फील्ड अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मानवीय संगठनों की पिछली रिपोटरें में कहा गया है कि यमन द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से दुनिया के सबसे बड़े बारूदी सुरंग युद्धक्षेत्रों में से एक बन गया है।

2014 के अंत से यमन एक गृहयुद्ध में फंस गया है, जब से ईरान समर्थित हौथी मिलिशिया ने कई उत्तरी प्रांतों पर नियंत्रण कर लिया और राष्ट्रपति अब्द-रब्बू मंसूर हादी की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त सरकार को राजधानी सना से बाहर कर दिया।

सऊदी के नेतृत्व वाले अरब गठबंधन ने मार्च 2015 में हादी की सरकार का समर्थन करने के लिए यमनी संघर्ष में हस्तक्षेप किया था।

Devi Maa

--आईएएनएस

एचके/आरजेएस