तालिबान ने पंजशीर में 20 नागरिकों की हत्या की: रिपोर्ट

नई दिल्ली, 14 सितम्बर (आईएएनएस)। तालिबानी लड़ाकों ने अफगानिस्तान की पंजशीर घाटी में कम से कम 20 नागरिकों की हत्या की है, जिसमें उग्रवादियों और विपक्षी ताकतों के बीच लड़ाई देखी गई है। यह जानकारी बीबीसी की रिपोर्ट में दी गई है।
 | 
तालिबान ने पंजशीर में 20 नागरिकों की हत्या की: रिपोर्ट नई दिल्ली, 14 सितम्बर (आईएएनएस)। तालिबानी लड़ाकों ने अफगानिस्तान की पंजशीर घाटी में कम से कम 20 नागरिकों की हत्या की है, जिसमें उग्रवादियों और विपक्षी ताकतों के बीच लड़ाई देखी गई है। यह जानकारी बीबीसी की रिपोर्ट में दी गई है।

घाटी में संचार बंद कर दिया गया है, जिसकी वजह से यहां रिपोटिर्ंग मुश्किल हो गई है, लेकिन बीबीसी के पास तालिबानियों की इन हत्याओं के सबूत मौजूद हैं।

पंजशीर में धूल भरी सड़क के किनारे के फुटेज में तालिबान लड़ाकों से घिरे सैन्य ड्रेस पहने एक व्यक्ति को दिखाया गया है।

Bansal Saree

तभी गोलियों की आवाज सुनाई देती है और वह जमीन पर गिर जाता है।

यह स्पष्ट नहीं है कि मारा गया व्यक्ति सेना का सदस्य था या नहीं, इस क्षेत्र में लड़ाकू वर्दी पहनना आम बात है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि वीडियो में एक व्यक्ति ने जोर देकर कहा कि वह एक नागरिक है।

बीबीसी ने इस बात की पुष्टि की है कि पंजशीर में कम से कम 20 ऐसी मौतें हुई हैं।

पीड़ितों में से एक दुकानदार और अब्दुल समी नामक दो बच्चों के पिता भी शामिल हैं।

स्थानीय सूत्रों ने कहा कि तालिबान के आगे बढ़ने पर उस आदमी ने कहा, मैं सिर्फ एक गरीब दुकान का मालिक हूं और युद्ध से मेरा कोई लेना-देना नहीं है।

Devi Maa Dental

इसके बावजूद प्रतिरोध सैनिकों को सिम कार्ड बेचने के आरोप में उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

कुछ दिनों बाद उसका शव उसके घर के पास से पाया गया। उसका शव देखने वाले लोगों ने बताया कि उसके शरीर पर गंभीर निशान थे। उसे काफी टॉर्चर किया गया।

पंजशीर घाटी लंबे समय से अफगानिस्तान में प्रतिरोध का केंद्र बिंदु रही है।

दिवंगत विपक्षी कमांडर अहमद शाह मसूद के तहत, इस क्षेत्र ने सोवियत सेना और तालिबान दोनों को खदेड़ दिया था।

यहां पहाड़ की चोटियाँ घाटी को पूरी तरह से घेर लेती हैं जिससे किसी के लिए भी इसे पकड़ना मुश्किल हो जाता है।

जमीन से ली गई फुटेज में एक बार फिर से व्यस्त बाजारों को वीरान दिखाया गया है।

घाटी की ऊबड़-खाबड़ चोटियों के नीचे वाहनों की लंबी कतारें लगने से लोग भागने की कोशिश कर रहे हैं।

यहां भोजन और दवाइयों की कमी की भी चेतावनी दी गई है।

--आईएएनएस

एसकेके/आरजेएस