तमिलनाडु: बलात्कारी को पकड़ने के लिए पीड़िता और बच्चे का होगा डीएनए टेस्ट

चेन्नई, 24 जून (आईएएनएस)। तमिलनाडु में कोयंबटूर ग्रामीण जिला पुलिस ने एक दिव्यांग (पीडब्ल्यूडी) महिला के साथ बलात्कार, यौन उत्पीड़न और गर्भवती करने के आरोप में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।
 | 
तमिलनाडु: बलात्कारी को पकड़ने के लिए पीड़िता और बच्चे का होगा डीएनए टेस्ट चेन्नई, 24 जून (आईएएनएस)। तमिलनाडु में कोयंबटूर ग्रामीण जिला पुलिस ने एक दिव्यांग (पीडब्ल्यूडी) महिला के साथ बलात्कार, यौन उत्पीड़न और गर्भवती करने के आरोप में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

पुलिस सूत्रों ने कहा कि महिला ने दो बार बच्चे को जन्म दिया था और पुलिस यह पता लगा रही है कि महिला के साथ एक व्यक्ति ने बलात्कार किया या फिर और भी लोग शामिल है।

दिव्यांग व्यक्तियों के अधिकार अधिनियम की धारा 376 (2) (1) और धारा 92 (बी) के तहत मामला दर्ज किया गया है। अपराधी को पकड़ने के लिए महिला और उसके बच्चों का डीएनए टेस्ट किया जाएगा।

krishna hospital

जानकारी के मुताबिक, 29 वर्षीय महिला अपने पिता के साथ थोंडामाथुर में रहती थी। महिला ने 2020 में एक बच्चे को जन्म दिया, जिसे समाज कल्याण विभाग वालों को सौंप दिया गया।

पुलिस ने कहा कि 64 वर्षीय पिता और उनकी बेटी ने यौन उत्पीड़न के बारे में शिकायत नहीं की और कोयंबटूर ग्रामीण क्षेत्र के पेरूर के पास रंगा नगर में शिफ्ट हो गए।

महिला ने मार्च 2022 में फिर से एक बच्ची को जन्म दिया। इसकी सूचना स्थानीय लोगों ने जिला कलेक्टर (डीएम) से की। डीएम ने तत्काल समाज कल्याण विभाग को जांच करने के निर्देश दिया।

समाज कल्याण अधिकारी ने महिला के साथ दुष्कर्म और यौन शोषण की लिखित शिकायत दर्ज कराई और आईपीसी की धारा 376(2)(1) और धारा 92(बी) के तहत मामला दर्ज किया।

chaitanya

पुलिस ने कहा कि महिला शिकायत दर्ज करने को तैयार नहीं थी, इसके पीछे का कारण परिचित लोगों में से अपराधी का होना हो सकता है।

--आईएएनएस

पीके/एएनएम