केंद्रीय मंत्री ने कृषि निर्यात को बढ़ावा देने की जरूरत पर जोर दिया

हैदराबाद, 13 सितंबर (आईएएनएस)। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री शोभा करंदलाजे ने सोमवार को कृषि निर्यात को बढ़ावा देने की आवश्यकता पर जोर दिया, जिससे किसानों की आय एक तय समय सीमा के भीतर दोगुनी हो सके।
 | 
केंद्रीय मंत्री ने कृषि निर्यात को बढ़ावा देने की जरूरत पर जोर दिया हैदराबाद, 13 सितंबर (आईएएनएस)। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री शोभा करंदलाजे ने सोमवार को कृषि निर्यात को बढ़ावा देने की आवश्यकता पर जोर दिया, जिससे किसानों की आय एक तय समय सीमा के भीतर दोगुनी हो सके।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार भारत को कृषि उत्पादों के प्रमुख निर्यातक के रूप में आगे बढ़ाने के लिए राज्य सरकार के साथ मिलकर काम करेगी।

बीआरकेआर भवन में तेलंगाना और केंद्र सरकार के वरिष्ठ कृषि अधिकारियों को संबोधित करते हुए मंत्री ने कृषि निर्यात की निगरानी के लिए एक समर्पित सेल की आवश्यकता पर जोर दिया, जो केंद्र, राज्य सरकार, एपीडा और किसानों के साथ समन्वय करेगा, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि किसानों को उनकी उपज के अतिरिक्त मूल्य मिले।

Bansal Saree

करंदलाजे ने राज्य में 20 लाख एकड़ में पाम तेल उगाने का महत्वाकांक्षी कार्यक्रम शुरू करने के लिए राज्य सरकार की सराहना की, जिससे देश को बहुत सारी विदेशी मुद्रा बचाने में मदद मिलेगी।

राज्य के कृषि, सहकारिता और विपणन मंत्री एस. निरंजन रेड्डी ने केंद्रीय मंत्री को राज्य सरकार की विभिन्न पहलों के बारे में जानकारी दी और बताया कि पिछले सात वर्षो के दौरान फसल क्षेत्र में 38 प्रतिशत और फसल उत्पादन में 68 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का ध्यान किसानों के लिए लाभप्रदता बढ़ाने, ग्रामीण युवाओं को कृषि में बनाए रखने, फसल विविधीकरण, कृषि मशीनीकरण, बागवानी विशेष रूप से पाम तेल पर जोर देने और पोषक तत्व और उर्वरक दक्षता में सुधार करने पर है।

मुख्य सचिव सोमेश कुमार ने कलेश्वरम लिफ्ट सिंचाई परियोजना को इंजीनियरिंग का चमत्कार बताया और इसके परिणामस्वरूप भूजल स्तर में वृद्धि हुई है। उन्होंने रायथु बंधु, रायथु भीमा और रायथु वेदिका जैसी नवीन योजनाओं के बारे में भी केंद्रीय मंत्री का ध्यान आकर्षित किया, जिन्हें केवल तेलंगाना में लागू किया जा रहा है।

Devi Maa Dental

कृषि सचिव रघुनंदन राव ने कहा कि सिंचाई, बिजली, निवेश सहायता, विस्तार प्रणाली, इनपुट आपूर्ति, बुनियादी ढांचा समर्थन और किसानों के लिए सामाजिक सुरक्षा राज्य में कृषि क्षमता के तेजी से विकास के प्रमुख चालक हैं।

करंदलाजे ने जीदीमेटला में उत्कृष्टता केंद्र (सब्जियां और फूल) का भी दौरा किया।

--आईएएनएस

एसजीके/एएनएम