कांग्रेस चिंतन शिविर के दूसरे दिन आर्थिक, सामाजिक न्याय व किसानों के मुद्दे पर रहेगा जोर

नई दिल्ली, 14 मई (आईएएनएस)। झीलों की नगरी उदयपुर में कांग्रेस पार्टी के चिंतन शिविर का आज दूसरा दिन है। चिंतन शिविर के दूसरे दिन आंतरिक चर्चाओं का दौर जारी रहेगा और शनिवार की सुबह पी. चिदम्बरम, भूपेन्द्र सिंह हुड्डा और सलमान खुर्शीद कई मसलों पर बाहर आकर जानकारी देंगे। आर्थिक मामलों पर पी चिदंबरम, किसानों के मुद्दे पर भूपेंद्र सिंह हुड्डा और सामाजिक न्याय को लेकर सलमान खुर्शीद अलग अलग प्रेस वार्ता कर कांग्रेस की आगे के रोड मैप के बारे में जानकारी देंगे।
 | 
कांग्रेस चिंतन शिविर के दूसरे दिन आर्थिक, सामाजिक न्याय व किसानों के मुद्दे पर रहेगा जोर नई दिल्ली, 14 मई (आईएएनएस)। झीलों की नगरी उदयपुर में कांग्रेस पार्टी के चिंतन शिविर का आज दूसरा दिन है। चिंतन शिविर के दूसरे दिन आंतरिक चर्चाओं का दौर जारी रहेगा और शनिवार की सुबह पी. चिदम्बरम, भूपेन्द्र सिंह हुड्डा और सलमान खुर्शीद कई मसलों पर बाहर आकर जानकारी देंगे। आर्थिक मामलों पर पी चिदंबरम, किसानों के मुद्दे पर भूपेंद्र सिंह हुड्डा और सामाजिक न्याय को लेकर सलमान खुर्शीद अलग अलग प्रेस वार्ता कर कांग्रेस की आगे के रोड मैप के बारे में जानकारी देंगे।

कांग्रेस चिंतन शिविर कर पार्टी को मजबूत करने के बदलाव को लेकर मंथन कर रही है। शिविर के पहले दिन कांग्रेस ने युवाओं, उनकी नौकरी का हक दिलाने और एक परिवार एक टिकट की बात की।

ब्लॉक स्तर से लेकर सीडब्ल्यूसी तक हर पार्टी समिति में 50 से कम उम्र के नेताओं के लिए 50 फीसदी प्रतिनिधित्व होगा। वहीं नेताओं ने इस बात का भी जिक्र किया कि, कांग्रेस सरकार ने देश को राइट टू एजुकेशन, राइट टू फूड और राइट इंफॉर्मेशन दिया, ऐसे में अब युवाओ को राइट टू जॉब का अधिकार दिलाने के लिए कांग्रेस पार्टी देशभर में अभियान चलेगी और केंद्र सरकार पर दबाव बनाएगी।

krishna hospital

इससे पहले कांग्रेस ने एक परिवार-एक टिकट प्रस्ताव पर भी गंभीर मंथन किया और इस प्रस्ताव पर सभी कांग्रेस नेता सहमत नजर आ रहे हैं। इस प्रस्ताव के तहत अगर कोई दूसरा सदस्य चुनाव लड़ने के लिए टिकट चाहता है तो उसे पार्टी संगठन में कम से कम पांच साल काम करना चाहिए। कांग्रेस चिंतन शिविर में 400 से अधिक वरिष्ठ नेताओं ने अलग अलग ग्रुप बना पार्टी के अंदरूनी मसलों से लेकर देश की आर्थिक स्थिति से लेकर सामाजिक मुद्दों पर मंथन कर रही है।

--आईएएनएस

एमएसके/आरएचए