अग्निपथ हिंसा: तेलंगाना कांग्रेस प्रमुख ने सिकंदराबाद हिंसा के आरोपियों से जेल में मुलाकात की

हैदराबाद, 24 जून (आईएएनएस)। तेलंगाना कांग्रेस प्रमुख रेवंत रेड्डी ने शुक्रवार को यहां चंचलगुडा सेंट्रल जेल में सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन हिंसा के कुछ आरोपियों से मुलाकात की।
 | 
अग्निपथ हिंसा: तेलंगाना कांग्रेस प्रमुख ने सिकंदराबाद हिंसा के आरोपियों से जेल में मुलाकात की हैदराबाद, 24 जून (आईएएनएस)। तेलंगाना कांग्रेस प्रमुख रेवंत रेड्डी ने शुक्रवार को यहां चंचलगुडा सेंट्रल जेल में सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन हिंसा के कुछ आरोपियों से मुलाकात की।

जेल अधिकारियों ने रेवंत रेड्डी और अन्य कांग्रेस नेताओं को युवाओं से मिलने की अनुमति दी, जिन्हें सेना भर्ती के लिए केंद्र द्वारा हाल ही में घोषित योजना अग्निपथ के विरोध में सिकंदराबाद स्टेशन पर 17 जून को हुई हिंसा के बाद गिरफ्तार किया गया था।

तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी (टीपीसीसी) के अध्यक्ष रेवंत रेड्डी ने युवाओं को आश्वासन दिया कि कांग्रेस पार्टी उनकी हर संभव मदद करेगी। उन्होंने उन्हें हिम्मत ना हारने का आह्वान किया।

krishna hospital

उन्होंने बाद में संवाददाताओं से कहा कि केंद्र सरकार द्वारा लाई गई एक गलत योजना का विरोध कर रहे निर्दोष युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया और उन धाराओं के तहत जेल में डाल दिया गया, जो आमतौर पर आतंकवादियों के खिलाफ लागू होती हैं।

रेड्डी, (जो संसद सदस्य भी हैं) ने दावा किया कि मामले में गिरफ्तार किए गए 55 युवाओं में से 50 अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) के हैं। उन्होंने कहा, ये युवा अपने परिवारों के लिए आशा थे। उनके माता-पिता शिक्षित नहीं हैं और वे अब खुद को असहाय महसूस कर रहे हैं।

राज्य कांग्रेस प्रमुख ने स्थिति के लिए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि सरकार ने अग्निपथ योजना लाकर राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डाला है। उन्होंने आरोप लगाया कि इस योजना के तहत सरकार सैनिकों के साथ किराए के मजदूरों जैसा व्यवहार करना चाहती है। उन्होंने कहा, जिन लोगों को चार साल के लिए भर्ती किया जा रहा है, उन्हें नौकरी की सुरक्षा, पेंशन और अन्य लाभ नहीं होंगे।

chaitanya

रेवंत रेड्डी ने कहा कि केंद्र द्वारा अग्निपथ योजना को वापस लेने तक कांग्रेस पार्टी अपना विरोध जारी रखेगी। इसके तहत 27 जून को राज्यव्यापी प्रदर्शन किया जाएगा।

सेना की नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों के विरोध के दौरान 17 जून को सिकंदराबाद स्टेशन पर हिंसा हुई थी। युवकों ने ट्रेनों और सामानों में आग लगा दी और स्टेशन और अन्य रेलवे संपत्ति में तोड़फोड़ की। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए रेलवे पुलिस द्वारा की गई फायरिंग में एक युवक की मौत हो गई और 13 अन्य घायल हो गए।

तेलंगाना सरकार ने पुलिस फायरिंग में मारे गए युवक के परिवार को 25 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने वारंगल जिले के रहने वाले डी. राकेश (22) के परिजनों के लिए मुआवजे की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने यह भी घोषणा की कि राकेश के परिवार के किसी सदस्य को उसकी योग्यता के अनुसार सरकारी नौकरी प्रदान की जाएगी।

--आईएएनएस

एचके/एएनएम