यूपी में अब आदमखोर कुत्तों की खैर नहीं, जानिए क्या है सीएम योगी का प्लान

74
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

लखनऊ, न्यूज टुडे नेटवर्क : आवारा कुत्तों ने आतंक मचा रखा है। शायद ही कोई सड़क या गली हो जहां इनकी दहशत न हो। राहगीर परेशान हैं, पर करें भी तो क्या। राह चलते कब कुत्ते हमला कर दें, इसका पता ही नहीं चल रहा है। यूपी के सीतापुर से लगातार एक के बाद एक कुत्तों द्वारा बच्ची की जान लिए जाने के मामले सामने आ रहे हैं। अब खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस मामले में सक्रिय हुए हैं और अधिकारियों को कुत्तों के आतंक से सख्ती से निपटने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि खूंखार कुत्तों से निपटने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाएं मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में तत्काल विशेषज्ञों की राय ली जानी चाहिए।

dog_bite

कुत्तों के आतंक से 12 बच्चों की हो चुकी है मौत

यूपी के सीतापुर जिले के खैराबाद इलाके में खूंखार कुत्तों का आतंक है। इन कुत्तों के हमले से 12 बच्चों की मौत हो चुकी है, जबकि कई जख्मी हैं। दर्जन भर गांव दहशत में जीने को मजबूर हैं। बच्चे डर की वजह से स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। इन घटनाओं का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लिया है। उन्होंने डीएम को हर हाल में आदमखोर कुत्तों के आतंक से जनता को निजात दिलाने के सख्त निर्देश दिए हैं।

‘स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करें’

उन्होंने बेसिक शिक्षा विभाग एवं प्रबन्धकों से वार्ता करके स्कूली बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि भारतीय जीव-जन्तु कल्याण बोर्ड, एसपीसीए एवं अन्य संस्थाओं को भी स्थिति का आकलन करने के लिए सीतापुर जनपद में आमंत्रित कर उनके सुझावों पर अमल किया जाए। उन्होंने कहा कि सीतापुर के जिला विद्यालय निरीक्षक एवं जिला बेसिक जिला शिक्षा अधिकारी समस्त विद्यालय प्रबन्ध समितियों तथा अभिभावकों के साथ वार्ता करके खूंखार एवं हिंसक कुत्तों से बचाव सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि इसके अलावा सभी निजी स्कूलों के प्रबन्धकों एवं प्राचार्यों को भी स्थिति से निपटने के लिए आवश्यक निर्देश दिए जाएं।

Fstray_dogstp

‘गांवों में निगरानी के लिए गठित करें टीम’

मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को प्रभावित थानाक्षेत्र एवं समीपवर्ती गांवों में प्रधान कोटेदार/लेखपाल/कॉन्स्टेबल तथा अन्य ग्रामवासियों की टीम गठित करके खूंखार कुत्तों से बच्चों की निगरानी एवं सुरक्षा किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि टीमें विशेष रूप से प्रात: के समय भ्रमणशील रहकर निरन्तर ऐसे कुत्तों को चिह्नित एवं उनसे बचाव के हर सम्भव प्रयास सुनिश्चित करें। गौरतलब है कि जनपद सीतापुर के खैराबाद थानाक्षेत्र में खूंखार कुत्तों ने गत नवम्बर से इस वर्ष मई तक 12 बच्चों पर हमला किया।

लखनऊ व बरेली के विशेषज्ञों की टीम करेगी जांच

इन टीमों को सुबह के वक्त विशेष तौर पर सतर्कता बरतते हुए भ्रमणशील रहने को कहा गया है। लखनऊ व बरेली से विशेषज्ञों की टीम बुलाकर जांच कराने तथा भारतीय जीव-जंतु कल्याण बोर्ड व अन्य संस्थानों को भी स्थिति का आकलन करने के लिए बुलाकर उनके सुझावों पर अमल करने की सीएम ने हिदायत दी है।