रूद्रप्रयाग: बाबा केदार के धाम में “अनूठी योग गुफा” हुई बनकर तैयार, खासियतें जानकर दर्शनों को दौड़ पड़ेंगे आप

376
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

रूद्रप्रयाग- न्यूज टुडे नेटवर्क: उत्तराखंड में पीएम नरेन्द्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट के रूप में केदारनाथ पुनर्निर्माण का कार्य तेज गति से चल रहा है। इसी के अन्तर्गत केदारनाथ धाम में जिंदल ग्रुप के सहयोग से वुड स्टोन कंस्ट्रक्शन कंपनी ने आधुनिक गुफा तैयार कर ली है। वुड स्टोन कंस्ट्रक्शन कंपनी ने 20 अप्रैल 2018 को गुफा का काम शुरू किया था जो अब पूरा कर दिया गया है।

पीएम मोदी की मंशा पर विशेष तौर पर बनाई गई इस गुफा में योग, ध्यान, मेडिटेशन और आध्यात्मिक शांति के लिए सभी सुविधाएं जुटाई गई हैं। गुफा में बिजली, पानी के साथ ही एक डीएसपीटी फोन भी रखा गया है। गुफा के संचालन की जिम्मेदारी गढ़वाल मंडल विकास निगम (जीएमवीएन) को दी गई है।

गुफा में दर्शन और ठहरने के लिए यात्रियों का अलग से पंजीकरण

बाबा केदारनाथ के धाम में आने वाले श्रद्धालुओं को आत्मिक शांति और शिव के इस अनूठे धाम में योग की सौगात देने के लिए पीएम मोदी ने पिछले साल 5 योजनाओं के शिलान्यास के दौरान केदारपुरी में गुफा के निर्माण की बात कही थी। डीएम मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि गुफा से केदारपुरी और केदारनाथ धाम के साक्षात दर्शन हो रहे हैं। इसके साथ ही गुफा में दर्शन और ठहरने के लिए यात्रियों का अलग से पंजीकरण होगा।

कुछ इस तरह बाबा केदारनाथ के धाम में नजर आएगी योग गुफा

5 मीटर लम्बी और 3 मीटर चौड़ी योग गुफा है बेहद खास

केदारनाथ से करीब डेढ़ किमी दूरी पर चौराबाड़ी ताल की तरफ पहले से गुफा के आकार की जगह को आधुनिक गुफा में तब्दील किया गया। गुफा के निर्माण के लिए रुद्रप्रयाग डीएम मंगेश घिल्डियाल ने भी मॉनीटरिंग की। 5 मीटर लम्बी और 3 मीटर चौड़ी गुफा में ढाई मीटर के टॉयलेट, बाथरूम भी हैं जबिक उरेडा के तहत बिजली की व्यवस्था की गई है।

डीएम मंगेश घिल्डियाल

सुरक्षा की दृष्टि से यहां एक डीएसपीटी फोन भी रखा गया है। गुफा के बाहर एक छोटा आंगन बनाया गया है। जबकि हवनकुंड भी मौजूद है। आवश्यकता पड़ने पर यहां आराम के लिए बैड भी लगाया गया है। इस विशेष योग गुफा के निर्माण के लिए जिंदल ग्रुप द्वारा वुड स्टोन कंस्ट्रक्शन कंपनी को करीब साढ़े आठ लाख की धनराशि दी गई।

डीएम मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि केदारनाथ में चौराबाड़ी मार्ग में एक गुफा तैयार कर ली गई है, इसमें सभी जरूरी सुविधाएं जुटाई हैं। मॉडल के रूप में इसे उपयोग किया जाएगा। इसमें एक बार में आधा दर्जन से अधिक लोग ध्यान कर सकते हैं। बहुत जल्द इसका विधिवित शुभारंभ किया जाएगा।