काम की खबर- WhatsApp यूजर्स के लिए जारी हुई ये 10 महत्वपूर्ण बातें, जान लें वरना झेलनी पड़ेगी मुसीबत

260
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: आज के वक्त में सोशल मीडिया ने लोगों को अपनी गिरफ्त में ऐसा ले लिया है कि बच्चा हो या जवान या फिर बुजुर्ग , हर कोई इसके बगैर खुद को अधूरा सा पाता है। कई मामलों में सोशल मीडिया के विभिन्न मंच समाज में खुशहाली भी ला रहे हैं लेकिन इन सबके बीच सोशल मीडिया के विभिन्न मंचों में फैली अराजकता ने इन दिनों देश में कोहराम मचा रखा है।

फेसबुक , वॉट्सअप और ट्विटर जैसे मंच जो सामाजिक जीवन को बेहतर बनाने में कारगर थे इस दिनों समाज में भय का माहौल बनाने की वजह बन रहे हैं। बीते कुछ महीनों में मॉब लिंचिंग की घटनाओं के सामने आने के बाद वॉट्सअप पर गंभीर सवाल उठने लगे हैं। झूठी खबरों के मकड़जाल में ना जाने कितने ही बेगुनाहों को मौत के घाट उतार दिया गया।

इसे लेकर हाल ही में सरकार ने वॉट्सअप को चेतावनी देते हुए झूठी खबरों में रोक के लिए नीति बनाने के लिए कहा था। इस पर तत्काल प्रतिक्रिया देते हुए वॉट्सऐप ने बीते बुधवार को सरकार को एक 3 पेज का लेटर भेजकर अपना जवाब दिया था। हाल ही वाट्सअप ने विज्ञापन के जरिए 10 ऐसी बातें शेयर की हैं जो हर वॉट्सअप यूजर के लिए बेहद अहम हैं।

1. फॉरवर्ड किए हुए संदेशों से रहें सावधान

व्‍हाट्सएप ने अपने विज्ञापन में बताया है कि इसी सप्‍ताह कंपनी एक नया फीचर ला रही है, जिससे आपको यह आसानी से पता लग जाएगा कि यह संदेश फॉरवर्ड है। यहां यूजर को आगाह करते हुए कंपनी ने कहा है कि आप इस बात की जांच करें कि क्या फॉरवर्ड मैसेज में मौजूद बातें सच हैं या नहीं।

2. जो बात आपको परेशान करें उसे फॉरवर्ड न करें

कंपनी ने सुझाव दिया है कि यदि फॉरवर्ड मैसेज में कुछ ऐसा पढ़ते हैं जिससे आपको क्रोध आता है या डर लगता है, या बात आपको अविश्‍वसनीय लगती है तो यह जानने की कोशिश करें कि क्या उस संदेश का उद्देश्य आपके मन में ऐसी ही भावनाओं को जगाना था? अगर जवाब हां है तो आप उसे दूसरों के साथ साझा न करें और न ही फॉरवर्ड करें।

3. अविश्‍वसनीय जानकारी की दोबारा जांच करें

कई बार हमारे सामने ऐसे मैसेज आते हैं जिन पर यकीन करना मु‍श्‍किल होता है। ऐसा वीडियो को एडिट कर कृत्रिम रूप से तैयार किया जा सकता है। ये बातें अक्सर ही सच नहीं होती। ऐसे में किसी अन्य स्त्रोत से पता लगाएं कि जानकारी सच्ची है या नहीं।

4. ऐसे संदेशों से बचें जो थोड़े अलग दिखते हैं

रोजाना हमारे सामने कई मैसेज आते हैं जिसमें दी गई खबरें गलत या झूठी होती हैं उनमें गलत वर्तनी का प्रयोग किया जाता है। कई बार पुरानी घटनाओं को मौजूद खबरों के साथ जोड़ कर लोगों को भड़काने की कोशिश करते हैं। ऐसे संदेशों में ध्यान रखें ताकि आप पता लगा सकें कि संदेश में निहित जानकारी सच है या नहीं।

5. संदेशों में मौजूद फोटो को ध्यान से देखें

फोटो और वीडियो पर आसानी से यकीन कर लिया जाता है, लेकिन आपको भ्रमित करने के लिए फोटो और वीडियो को भी एडिट किया जा सकता है। कभी-कभी फोटो सच्ची होती है, लेकिन उससे जुड़ी कहानी नहीं।

6. लिंक की भी जांच करें

ऐसा लग सकता है कि संदेश में मौजूद लिंक किसी परिचित या जानी-मानी साइट का है, लेकिन अगर उसमें गलत वर्तनी या विचित्र वर्ण मौजूद है तो संभव है कि कुछ गलत जरूर है। जिस लिंक पर शक हो तो उसे न तो खोले न ही फॉरवर्ड करें।

7. अन्य स्रोतों का प्रयोग करें

घटना की सचाई जानने के लिए अन्य समाचार साइट्स या ऐप्स को देखें। अगर घटना सच्ची होगी तो संभव है कि अन्य जगह भी पोस्ट की गई होगी। जब किसी घटना की एक से अधिक जगह रिपोर्ट की जाती है तो उसके सच होने की संभावना बढ़ जाती है।

8. सोच-समझकर संदेशों को साझा करें

हमने आपको पहले ही बताया कि सभी संदेश सच नहीं होते। ऐसे में यदि आप संदेश के स्रोत नहीं जानते या आपको लगता है कि संदेश में मौजूद जानकारी झूठी हो सकती है तो कृपया उसे अन्य लोगों को फॉरवर्ड न करें।

9. गलत संदेश भेजने वाले को ब्‍लॉक करें

आप वॉट्सऐप पर किसी भी नंबर को ब्लॉक कर सकते हैं या किसी भी समूह को छोड़ सकते हैं। अपने वॉट्सऐप अनुभव पर अपना नियंत्रण रखने के लिए ऐसी विशेषताओं का प्रयोग करें।

10. झूठी खबरें अक्सर फैलती हैं

आप इस पर ध्यान न दें कि आपने संदेश को कितनी बार प्राप्त किया है। सिर्फ इसलिए कि संदेश कई बार साझा किया गया है, इसका मतलब यह नहीं है कि वह खबर सच्ची हो।