Birthday Special: फिल्मों की शुरूवात से रेखा के प्यार तक, ऐसा रहा विनोद मेहरा का फिल्मी सफर

241
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

मुंबई- ‘अमर प्रेम, ‘अनुरोध, ‘अनुराग’, घर’, ‘स्वर्ग नरक’, कुंवारा बाप’, ‘अमर दीप’, ‘नागिन’ आदि फ़िल्मों में अपने बेहतरीन अदाकारी की छाप छोड़ने वाले विनोद मेहरा आज अगर हमारे बीच होते तो अपना 73 वां जन्मदिन मना रहे होते। 70-80 के दशक में अपनी सहज अभिनय शैली, प्यारी सी मुस्कान और अपनी बोलती हुई आंखों की चमक से भारतीय सिनेमा में अपनी अलग जगह बनाने वाले अभिनेता विनोद मेहरा का जन्म 13 फरवरी 1945 को पंजाब के अमृतसर में हुआ था।

Vinod Mehra
Vinod Mehra

महज 45 साल की उम्र में इस दुनिया से विदा लेने से पहले विनोद मेहरा ने 100 से ज्यादा फ़िल्में कर ली थीं जिनमें निभाये गए उनके जीवंत किरदार आज भी याद किये जाते हैं। पर्दे पर विनोद मेहरा की जोड़ी सबसे ज्यादा मौसमी चटर्जी के साथ पसंद की गयी। मोहम्मद रफ़ी उनके पसंदीदा गायक रहे और ‘गुरुदेव’ उनकी आखिरी रिलीज़ फ़िल्म थी जो उनकी मौत के तीन साल बाद आई थी।

बाल कलाकार से सशक्त अभिनेता तक विनोद मेहरा

विनोद मेहरा की दीदी शारदा फ़िल्मों में सह-अभिनेत्री की भूमिकाएं निभाया करती थीं। विनोद मेहरा की उम्र उस वक़्त सिर्फ 13 साल की थी जब उन्हें फ़िल्म ‘रागिनी’ में एक चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में काम करने का मौका मिला। इस फिल्म के माध्यम से विनोद मेहरा ने सबका दिल जीत लिया और उन्होंने बाल कलाकार के रूप में उसके बाद कई और फ़िल्में भी कीं। इसके बावजूद उनका मन कभी एक्टर बनने को नहीं हुआ। साल 1965 की बात है जब विनोद मेहरा एक बड़े प्राइवेट कंपनी में मार्केटिंग की जॉब कर रहे थे।

Vinod Mehra
Vinod Mehra And Bindiya Goswami

तभी उनके कुछ दोस्तों ने उन्हें एक ‘ऑल इंडिया टैलेंट कॉन्टेस्ट’ में भाग लेने के लिए कहा, जिसमें देश भर से नौजवान हिस्सा ले रहे थे। विजेता के लिए फ़िल्म से लेकर मॉडलिंग तक के रास्ते बड़ी ही आसानी से खुल जाते। दोस्तों के ज़िद पर विनोद मेहरा ने इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया। एक से एक स्मार्ट, हैंडसम और डैशिंग नौजवानों के बीच विनोद ने बाजी मार ही ली थी लेकिन, फाइनल राउंड में उन्हें दूसरे स्थान से ही संतोष करना पड़ा। इस टैलेंट कांटेस्ट के विजेता बने थे-राजेश खन्ना, जो बाद में देश के पहले सुपरस्टार बने। विनोद दूसरे नंबर पर रहे।

Vinod Mehra
Vinod Mehra And Rekha

विनोद ने बाल कलाकार के बाद एक युवा अभिनेता के रूप में अपना बॉलीवुड सफ़र साल 1971 में आई फ़िल्म ‘एक थी रीता’ से शुरू किया। जैसा कि ऊपर आपने पढ़ा कि उनकी दिलचस्पी हीरो बनने में नहीं थी। लेकिन, एक बार फिर उन्होंने अपनी दोस्तों की बात मानी और एक रेस्तरां में जब उन्हें एक निर्माता-निर्देशक ने फ़िल्म ऑफर की तो वो इस फ़िल्म से जुड़ गए। उसके बाद विनोद मेहरा ने तमाम स्थापित अभिनेताओं के बीच अपनी एक अलग और सौम्य सी जगह बनाई।

माँ से बहुत प्यार करते थे विनोद मेहरा

विनोद मेहरा के फिल्मी करियर शानदार चल रहा था। लेकिन, उनकी मां को अब अपने लाडले बेटे की शादी की चिंता सताने लगी। विनोद अपनी मां से बहुत प्यार करते थे और उन्होंने उनकी पसंद की लड़की मीना ब्रोका से शादी भी कर ली। लेकिन, दिल की बीमारी जैसे उनके सीने में घर कर चुकी थी। शादी के कुछ ही दिनों के बाद उन्हें पहला दिल का दौरा पड़ा और वो बाल-बाल बच गए। इस बीच उनका दिल अपनी हीरोइन बिंदिया गोस्वामी पर आ गया। उन्होंने बिना पहली पत्नी को डिवोर्स दिए बिंदिया से शादी कर ली। लेकिन, पहली पत्नी ने बाद में उन्हें डिवोर्स दे दिया।

विनोद मेहरा और बिंदिया का रिश्ता ठीक ही चल रहा था कि एक दिन बिंदिया गोस्वामी ने डायरेक्टर जे पी दत्ता से शादी करने के लिए उन्हें तलाक दे दिया। बिंदिया से अलग होने के बाद विनोद मेहरा ने तीसरी शादी किरण से 1988 में की थी और इस शादी के दो साल बाद ही उनकी डेथ हो गयी। किरण के विनोद से तब 2 बच्चे भी थे। बेटा रोहन और बेटी सोनिया। ये दोनों बच्चे आज अभिनय की दुनिया में सक्रिय हैं।

Vinod Mehra
Vinod Mehra

तो क्या 3 शादियों के बाद रेखा से भी हुई थी विनोद मेहरा की शादी !

अपनी कलाकारी के साथ – साथ विनोद मेहरा अपनी आशिक मिजाजी के लिए भी बॉलीवुड के गलियारों में खूब छाये रहे। 3 शादियों के बाद भी विनोद मेहरा और रेखा के प्यार के किस्सों ने खूब सुर्खियां बटोरी। फिल्मी गलियारों की मानें तो विनोद मेहरा ने रेखा से शादी की थी। यह शादी कोलकाता में हुई थी। इसके बाद विनोद मेहरा, रेखा को अपने घर ले गए। लेकिन, विनोद मेहरा की मां कमला मेहरा ने रेखा को बहू के रूप में स्वीकार नहीं किया।

फिल्मी गपशप के मुताबिक विनोद मेहरा की माँ कमला को रेखा के अतीत के बारे में पता था कि वह बिन-ब्याही मां की बेटी हैं। इसलिए कमला ने रेखा को घर में घुसने ही नहीं दिया। ऐसे में विनोद मेहरा भी कुछ कर नहीं पाए और यह रिश्ता टूट गया। हालांकि, रेखा और विनोद मेहरा की शादी का कोई सबूत नहीं है। रेखा भी इस बात का खंडन कर चुकी हैं। एक इंटरव्यू में रेखा ने शादी की खबर को अफवाह बताते हुए विनोद मेहरा को अपना शुभचिंतक बताया था। फिलहाल विनोद मेहरा हमारे बीच नही हैं लेकिन उनकी अदाकारी आज भी करोड़ों सिनेमा प्रेमियों के दिल पर छाई हुई है।