newstodaynetwork Banner

बेटियों को आत्मनिर्भर बनाकर सफलता की सीढ़ी चढ़ा रहीं बरेली की नीलिमा गौड़

न्यूज टुडे नेटवर्क। बरेली की नीलिमा आत्मसनिर्भर बनने वाली महिलाओं के लिए एक मिसाल हैं। वे खुद एक सफल व्यवसायी महिला तो हैं ही साथ ही दूसरी महिलाओं को भी सफलता की सीढ़ी पर चढ़ना सिखा रही हैं। हम बात कर रहे हैं बरेली शहर की नीलिमा गौड़ की जिन्होंने अपनी मेहनत के बल पर
 | 
बेटियों को आत्मनिर्भर बनाकर सफलता की सीढ़ी चढ़ा रहीं बरेली की नीलिमा गौड़

न्यूज टुडे नेटवर्क। बरेली की नीलिमा आत्मसनिर्भर बनने वाली महिलाओं के लिए एक मिसाल हैं। वे खुद एक सफल व्यवसायी महिला तो हैं ही साथ ही दूसरी महिलाओं को भी सफलता की सीढ़ी पर चढ़ना सिखा रही हैं। हम बात कर रहे हैं बरेली शहर की नीलिमा गौड़ की जिन्होंने अपनी मेहनत के बल पर खुद की अलग पहचान बनाई है। नीलिमा पिछले 23 सालों से ब्यूटी क्लीनिक चला रही हैं अपने क्लीनिक के जरिए वे दूसरी महिलाओं को भी आत्मनिर्भर बनाने का काम कर रही हैं।

Devi Maa Dental

अपने व्यस्तत समय के बीच वे बेटियों को ब्यूटीशियन का नि-शुल्क प्रशिक्षण देकर उन्हें आगे बढ़ाने का सामाजिक काम भी कर रही हैं। नीलिमा गौड़ बताती हैं कि उनके पास कई ऐसी बेटियां भी आती हैं जो कुछ हुनर सीखकर आगे बढ़ना चाहती हैं लेकिन पैसों के अभाव में नहीं सीख पातीं। ऐसी गरीब बेटियों को नीलिमा गौड़ ब्यूटीशियन का नि-शुल्क प्रशिक्षण देती हैं। उन्होंंने अब तक लगभग डेढ़ सौ से अधिक बेटियों को ट्रेड किया है।

https://fb.watch/45MdPVjd1A/  वीडियो देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

Bansal Saree

नीलिमा ने बताया कि वे बेटियों को प्रशिक्षण में थ्रेडिंग, हेयर स्टाशइल,मेकअप, रिबान्डिंग, हेयर कटिंग, वैक्सिंग आदि सिखाती हैं। नीलिमा गौड़ सामाजिक संस्था एक उम्मीैद के माध्य्म से बेटियेां को ब्यूटीशियन का कोर्स सिखाती हैं। उन्होंंने बताया कि बच्चों में सीखने की उत्सुकता देखकर उन्हें बेहद खुशी मिलती हैं।

बेटियों का आत्मनिर्भर होना है जरूरी

नीलिमा गौड़ का मानना है कि बेटियों का आत्मनिर्भर होना बेहद जरूरी है। महिलाएं अगर खुद आत्मनिर्भर होंगी तभी वे एक मजबूत परिवार का निर्माण भी कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि बुरे दौर में अक्सर महिलाओं को दिक्कतें उठानी पड़ती हैं। इसीलिए अपने हाथों में हुनर होना बहुत जरूरी है।

घरवाले करते हैं फुल सपोर्ट

नीलिमा गौड़ एक कामकाजी महिला हैं ऐसे में परिवार को साथ लेकर चलने का तालमेल बनाना उनके लिए चुनौती भरा काम है। इसको लेकर नीलिमा कहती हैं कि परिवार और बिजनेस को साथ लेकर चलना वास्तव में मुश्किल भरा काम होता है। उन्होंने कहा कि जितनी भी काम काजी महिलााएं हैं उनके जीवन में यह बेहद चुनौती भरा होता है। नीलिमा ने बताया कि उनके पति डाक्टर विभूति गौड़ ने उनके यहां तक पहुंचने में बेहद अहम भूमिका निभाई है। इसके अलावा उनके बेटे विपुल गौड़ और बहू सौम्या गौड़ का भी उन्हें पूरा सहयोग मिलता है। नीलिमा कहती हैं कि एक सफल महिला के पीछे उसके परिवार का बेहद अहम रोल है।