newstodaynetwork Banner

बरेली: 8 लाख में बना रहा था दरोगा, फर्जी निकला आईपीएस अधिकारी तो उड़ गये होश

न्यूज टुडे नेटवर्क, बरेली। फर्जी आईपीएस ने दरोगा भर्ती के नाम पर 8 लाख रुपये की ठगी कर ली है। आरोपी से फर्जी ट्रेनिंग लेटर मिलने के बाद जब परीक्षार्थी ने रिजल्ट देखा तो ठगी का खुलासा हुआ। इसके बाद जब आरोपियों को पीड़ित ने उनके द्वारा की गयी ठगी की रिकॉर्डिंग होने की बात
 | 
बरेली: 8 लाख में बना रहा था दरोगा, फर्जी निकला आईपीएस अधिकारी तो उड़ गये होश

न्‍यूज टुडे नेटवर्क, बरेली। फर्जी आईपीएस ने दरोगा भर्ती के नाम पर 8 लाख रुपये की ठगी कर ली है। आरोपी से फर्जी ट्रेनिंग लेटर मिलने के बाद जब परीक्षार्थी ने रिजल्ट देखा तो ठगी का खुलासा हुआ। इसके बाद जब आरोपियों को पीड़ित ने उनके द्वारा की गयी ठगी की रिकॉर्डिंग होने की बात बताई तो फर्जी आईपीएस ने उसे 4 लाख रुपये का चेक दे दिया। जिसे बैंक में लगाने पर वह चेक भी बाउंस हो गया। इस मामले में एसएसपी के आदेश पर सुभाषनगर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की है।

Devi Maa Dental

सुभाषनगर के बदायूं रोड निवासी विष्णु कुमार सिंह ने बताया कि वह बेरोजगार है। उनके आंवला वीरपुरा निवासी गब्बर सिंह ने रामपुर गार्डन निवासी दिलीप सिंह उर्फ टीटू चौहान, उसके भाई अजय चौहान से मिलवाया था। पीड़ित युवक के मुताबिक आरोपी दिलीप सिंह ने खुद को पुलिस अधिकारी बताया और उसकी दरोगा के पद पर भर्ती कराने की बात कही। इसके बाद आरोपी ने धीरे-धीरे कर पीडित से 8 लाख रुपये ले लिये और ट्रेनिंग का फर्जी लेटर बनवाकर दे दिया। विष्णु कुमार ने बताया कि 2016 में उन्होंने दरोगा का फार्म भी भरा था और उसकी 14 दिसंबर 2017 में परीक्षा भी दी थी। उक्त परीक्षा का ही आरोपी ने ट्रेनिंग लेटर दिया था। जिसके बाद उन्होंने नेट पर रोल नंबर डालकर देखा तो पता चला कि वह फेल हो गया है। इसके  बाद उसे पता चला कि उसकी रकम दिलीप सिंह, उसके भाई अजय सिंह व गब्बर सिंह ने मिलकर ठग ली है।

विष्णु ने बताया कि जब उन्होंने इसका विरोध किया और आरोपयों को उसके पास मौजूद उनकी कॉल रिकार्डिंग के बारे में बताया तो आरोपियो ने 4 लाख रुपये का चेक दे दिया जो कि बाउंस हो गया है। इस मामले में सुभाषनगर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ एसएसपी के आदेश पर नामजद धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है।

Bansal Saree

कमरे में रखे हुये हैं नीली बत्ती व पुलिस के स्टीकर

पीड़ित विष्णु कुमार सिंह के मुताबिक वह कई बार दिलीप सिंह चौहान के घर गये है। जहां पर उसके कमरे में पुलिस से जुड़ी कई सारी चीजे रखी मिली। जिसमें नीली बत्ती व पुलिस के स्टीकर भी शामिल है। जो हर समय उसके कमरे में ही रखे रहते हैं।

ट्रू कॉलर पर लिखा है आईपीएस एसोसिएशन दिल्ली

आरोपी दिलीप सिंह चौहान उर्फ टीटू चौहान का ठगी का नेटवर्क बड़ी दूर तक फैला हुआ है। पीड़ित के मुताबिक आरोपी ने ट्रू कॉलर पर नाम की जगह आईपीएस एसोसिएशन दिल्ली सेव किया हुआ है। आरोपी ने अपनी ट्रू कॉलर आईडी भी आईपीएस अधिकारी के नाम से बना रखी है।

बारादरी थाने से पहले भी जा चुका है जेल

आरोपी दिलीप सिंह चौहान इससे पहले भी बारादरी थाने से जेल जा चुका है। जिसकी जानकारी पीड़ित को ठगी होने के बाद मालूम हुई। फिलहार पुलिस मामले की जांच कर रही है और जल्‍द ही आरोपियों को सजा दी जायेगी।