आखिरकार सुभाषनगर के आतिशबाजी व्यापारियों को भी मिल गई राहत, क्या यहां लगेगा पटाखा बाजार, जानें इस खबर में…

बरेली,न्यूज टुडे नेटवर्क। आखिरकार सुभाषनगर के पटाखा व्यापारियों को भी रेलवे मैदान में आतिशबाजी की दुकानें लगाने की परमीशन मिल ही गई। सुभाषनगर के पटाखा बाजार को लेकर प्रशासन ने अभी तक निर्णय नहीं लिया था। यही नहीं सुभाषनगर में पटाखा बाजार लगाने की अनुमति देने से भी प्रशासन ने इंकार कर दिया था। जिससे
 | 
आखिरकार सुभाषनगर के आतिशबाजी व्यापारियों को भी मिल गई राहत, क्या यहां लगेगा पटाखा बाजार, जानें इस खबर में…

बरेली,न्‍यूज टुडे नेटवर्क। आखिरकार सुभाषनगर के पटाखा व्‍यापारियों को भी रेलवे मैदान में आतिशबाजी की दुकानें लगाने की परमीशन मिल ही गई। सुभाषनगर के पटाखा बाजार को लेकर प्रशासन ने अभी तक निर्णय नहीं लिया था। यही नहीं सुभाषनगर में पटाखा बाजार लगाने की अनुमति देने से भी प्रशासन ने इंकार कर दिया था। जिससे यहां के पटाखा व्‍यापारियों में मायूसी छा गई थी और नुकसान का डर सताने लगा था। बुद्धवार को ही सुभाषनगर के पटाखा व्‍यापारी सिटी मजिस्‍ट्रेट से मिले थे और डीएम से हस्‍तक्षेप कर पटाखा बाजार लगवाने की मांग की थी।

Devi Maa Dental

जिसके बाद काफी सोच विचार के बाद प्रशासन ने सुभाषनगर में पटाखा बाजार लगाने की अनुमति दे दी। प्रशासन के इस निर्णय के बाद अब सुभाषनगर में तैयारियां तेज हो गई हैं।आज से वहां आतिशबाजी की बिक्री शुरू हो जाएगी। इस बार जिले में भर में आतिशबाजी की छह सौ दुकानें लगाने के लिए प्रशासन की ओर अनुमति जारी की गई है। जनपद में आतिशबाजी की करीब 600 दुकानें लगेंगी। शहर में 10 स्थानों पर 275 दुकानें लगाने के लिये कारोबारियों ने पहले से ही तैयारी शुरू कर दी थी। बुधवार शाम तक दुकानें तैयार हो गयीं।

आज गुरूवार को यहां भी दुकानों में आतिशबाजी रखकर बिक्री शुरू कर दी गई है। गुरुवार से तीन दिनों तक अस्थायी लाइसेंस पर आतिशबाजी बेचने की अनुमति दी गयी है। देहात क्षेत्रों में 325 दुकानें लगाने को संबंधित क्षेत्र के एसडीएम ने लाइसेंस जारी किये हैं। इधर, सुभाषनगर में रेलवे स्कूल मैदान में आतिशबाजी की दुकानें लगाने को अनुमति जारी नहीं होने के बाद कारोबारी तीन दिन से परेशान थे। कारोबारियों ने केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार के समक्ष अपनी बात रखी। केंद्रीय मंत्री ने कारोबारियों की पीड़ा समझते हुये जिलाधिकारी नितीश कुमार से फोन पर बात की और पटाखा बाजार लगाने को अनुमति देने पर विचार करने पर जोर दिया।

Bansal Saree