newstodaynetwork Banner

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर वरिष्ठ महिलाओं को बिना पंजीकरण मिली कोरोना वैक्सीन, महिला चिकित्सकों ने ही संभाली कमान

न्यूज टुडे नेटवर्क। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर मिशन शक्ति के अंतर्गत सोमवार को बरेली के चयनित केंद्रों पर वरिष्ठ महिलाओं को कोविड-19 का टीका लगाया गया। यह दिन वरिष्ठ महिलाओं के लिए और खास बन गया I टीकाकरण केंद्र में इस दिन महिलाओं को ही कमान सौंपी गई थी। महिला जिला अस्पताल का नजारा बिल्कुल
 | 
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर वरिष्ठ महिलाओं को बिना पंजीकरण मिली कोरोना वैक्सीन, महिला चिकित्सकों ने ही संभाली कमान

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर  मिशन शक्ति के अंतर्गत सोमवार को  बरेली के चयनित केंद्रों पर वरिष्ठ महिलाओं को कोविड-19 का टीका लगाया गया। यह दिन वरिष्ठ महिलाओं के लिए और खास बन गया I  टीकाकरण केंद्र में इस दिन महिलाओं को ही कमान सौंपी गई थी। महिला जिला अस्पताल का नजारा बिल्कुल अलग था इस दिन महिला स्वास्थ्य कर्मचारियों ने टीका लगवाने वाली बुजुर्ग महिलाओं का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया और  हल्के-फुल्के हंसी मजाक के साथ उनका मनोबल बनाए रखा। उप प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ शुचिता गंगवार ने सभी की हौसला अफजाई की और उनके साथ फोटो भी खिंचवाई। इन महिलाओं की देखरेख में महिला जिला अस्पताल की पूर्व चिकित्सा अधीक्षक डॉ सुधा यादव को भी प्रतिरक्षित किया गया।

Devi Maa Dental

डॉ शुचिता गंगवार ने बताया कि टीका लगाने से लेकर टीका लगवाने तक के पूरे कार्यक्रम में सिर्फ महिलाओ को ही शामिल किया गया है । महिला दिवस के लिए तीन केंद्रों फरीदपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, जिला महिला अस्पताल एवं जिला जेल चिकित्सालय में टीकाकरण किया गया। इस दिन आश्रय स्थल में रहने वाली, वृद्धा पेंशन पाने वाली, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन से जुड़ी एवं अन्य वरिष्ठ नागरिक महिलाओं को कोविड-19 का टीका लगवाया गया।  इस खास दिन बुजुर्ग महिलाओं को सबसे ज्यादा बात पसंद आई कि उन्हें टीकाकरण कराने के लिए पूर्व पंजीकरण नहीं कराना पड़ा।

महिला जिला अस्पताल की पूर्व चिकित्सा अधीक्षक डॉ सुधा यादव ने बताया कि यह टीका बहुत ही सुरक्षित है और लगवाने से गुरेज नहीं करना चाहिए टीका लगवाने के बाद 28 दिन तक पूरी सावधानी बरतनी चाहिए और दूसरी डोज समय पर लगवानी चाहिए कोरोना के खिलाफ एंटीबॉडी बनने के बाद कोरोना खतरा बहुत हद तक कम हो जाता है।

Bansal Saree

लाभार्थी मंजू अग्रवाल ने बताया उनका बेटा प्रशांत अग्रवाल यूएसए में रहते हैं उन्हें जब पता चला कि बरेली में भी बुजुर्गों को टीका लगाया जा रहा है तो अपनी मां से कहा कि आज से अच्छा दिन नहीं हो सकता है आप जाकर टीका लगाइए उसकी बात मान कहीं हम यहां टीका लगाने आए हैं और पूरी तरह से स्वस्थ हैं ।

लाभार्थी सुमन टंडन ने बताया कि पूरा परिवार ही हम लोगों को सुरक्षित देखना चाहता है इसलिए रोज फोन करके कहते थे कि टीकाकरण करवा लें। अखबारों से पता चला कि आज टीका लगवाने के लिए पूर्व पंजीकरण नहीं हो रहा है इसीलिए आज टीका लगवाया है।