रुद्रपुर: दीपावली की शाम एक परिवार से गूँजी चीखें, इस तरह बुझ गया कुलदीपक

रुद्रपुर। किच्छा क्षेत्र के ग्राम शांतिपुरी नंबर एक में एक तरफ हर घर रौशन हो रहा था, वहीं अपना रौशन करते एक कुलदीपक हमेशा के लिए हमेशा के लिए बुझ गया। पल भर में ही दीपावली की खुशियां मातम में बदल गई। परिवार से रोने चीखने की आवाज आने लगी। जानकारी के मुताबिक शांतिपुरी नंबर
 | 
रुद्रपुर: दीपावली की शाम एक परिवार से गूँजी चीखें, इस तरह बुझ गया कुलदीपक

रुद्रपुर। किच्छा क्षेत्र के ग्राम शांतिपुरी नंबर एक में एक तरफ हर घर रौशन हो रहा था, वहीं अपना रौशन करते एक कुलदीपक हमेशा के लिए हमेशा के लिए बुझ गया। पल भर में ही दीपावली की खुशियां मातम में बदल गई। परिवार से रोने चीखने की आवाज आने लगी।

Devi Maa Dental

जानकारी के मुताबिक शांतिपुरी नंबर एक निवासी दीप चंद्र जोशी का तेरह वर्षीय पुत्र आयुष जोशी कल शाम अपनी छत पर लड़ियां लगा रहा था कि अचानक उसका हाथ बिजली के तार से छू गया । करंट लगने से एक चीख के साथ ही आयुष हमेशा के लिए मौत की नींद सो गया।

आयुष दीप चंद्र का इकलौता बेटा था। बेटे की मौत के बाद परिवार में कोहराम मच गया। दीपावली की सारी तैयारी धरी की धरी रह गई। परिवार की चीखें सुन कर गांव के लोग एकत्र हो गए। आयुष कक्षा आठ में पढ़ाई कर रहा था।

Bansal Saree