newstodaynetwork Banner

हल्द्वानी – यहां भारी मात्रा में शराब के साथ दो तस्करों को पुलिस ने किया गिरफ्तार , पहाड़ों में ऐसे करते थे तस्करी

हल्द्वानी – पुलिस ने भारी मात्रा में शराब के साथ दो तस्करों को गिरफ्तार किया है। दोनों को कार्यवाही कर न्यायालय में पेश किया गया है। बनभूलपुरा थाना पुलिस के अनुसार मादक पदार्थों की तस्करी रोकने व शांति व्यवस्था कायम रखने के उद्देश्य से एक टीम गश्त पर थी। इस बीच मुखबिर ने सूचना दी
 | 
हल्द्वानी – यहां भारी मात्रा में शराब के साथ दो तस्करों को पुलिस ने किया गिरफ्तार , पहाड़ों में ऐसे करते थे तस्करी

हल्द्वानी –  पुलिस ने भारी मात्रा में शराब के साथ दो तस्करों को गिरफ्तार किया है। दोनों को कार्यवाही कर न्यायालय में पेश किया गया है। बनभूलपुरा थाना पुलिस के अनुसार मादक पदार्थों की तस्करी रोकने व शांति व्यवस्था कायम रखने के उद्देश्य से एक टीम गश्त पर थी। इस बीच मुखबिर ने सूचना दी कि केएमओयू स्टेशन से एक सूमो वाहन में शराब की खेप ले जाई जा रही है। इस सूचना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने वाहनों की चैकिंग शुरू कर दी। इस बीच रेलवे स्टेशन रोड के पास टाटा सूमो संख्या यूके 04एफ-2125 को रूकने का इशारा किया गया तो चालक ने वाहन विपरित दिशा में मोड़ दिया।

Devi Maa Dental

हल्द्वानी – बड़ी खबर – यहां इस युवक पर चली गोली , इलाके में मचा हड़कंप , पुलिस पहुंची मौके पर

शक होने पर पुलिस कर्मियों ने बल प्रयोग कर वाहन को रोक लिया। तलाशी में पुलिस को वाहन से अलग-अलग ब्रांड की 31 पेटी अंग्रेजी शराब बरामद हुई। जिसमें कीमती ब्रांडेड शराब भी शामिल है। इस पर वाहन सवार दो तस्करों को गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में तस्करों ने अपने नाम संतोष कुमार पुत्र दुर्गा प्रसाद हाल निवासी स्वास्थ इन्कलेव थाना ट्रान्जिट कैम्प ऊधम सिंह नगर व मूल पता ग्राम चौडेरा पोस्ट याकूब गंज बहेड़ी व सोनू पुत्र सईद अहमद हाल निवासी मॉडल कॉलौनी रूद्रपुर व मूल पता गोगोही थाना खजुरिया बिलासपुर बताये। दोनों ने पुलिस को बताया कि वह उक्त शराब किच्छा स्थित एक अंग्रेजी शराब के ठेकेदार सरदार जी की है। जिसे ढोने के ऐवज में उन्हें 50 रूपये प्रति पेटी व तेल का खर्च दिया जाता है।

Bansal Saree

पकड़े गये तस्कर वाहन के कागजात भी पुलिस को नहीं दिखा पाये हैं। पुलिस ने शराब तस्करी में प्रयुक्त वाहन को सीज कर दिया है। जबकि तस्करों को कार्यवाही के बाद न्यायालय में पेश किया गया है। सफलता प्राप्त करने वाली टीम में एसआई मनोज पाण्डे, कांस्टेबल मोहम्मद अतहर व अशोक शामिल रहे।