newstodaynetwork Banner

हल्द्वानी- सुशीला तिवारी में चिकित्सा शिविर का आयोजन, महिला पुलिस कर्मियों की फ्री हुई जांचे

सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में आज अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में उत्तराखंड पुलिस की महिला अधिकारियों, कर्मियों तथा उत्तराखंड पुलिस कर्मियों के परिवार की महिलाओं के लिए एक व्याख्यानशाला व स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का आयोजन स्त्री व प्रसूति रोग विभाग द्वारा किया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि रिमझिम रौतेला थी। वही नैनीताल एसएसपी प्रीति
 | 
हल्द्वानी- सुशीला तिवारी में चिकित्सा शिविर का आयोजन, महिला पुलिस कर्मियों की फ्री हुई जांचे

सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में आज अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में उत्तराखंड पुलिस की महिला अधिकारियों, कर्मियों तथा उत्तराखंड पुलिस कर्मियों के परिवार की महिलाओं के लिए एक व्याख्यानशाला व स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का आयोजन स्त्री व प्रसूति रोग विभाग द्वारा किया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि रिमझिम रौतेला थी। वही नैनीताल एसएसपी प्रीति प्रियदर्शनी और मेडिकल कॉलेज के प्रचार्य सीपी भैसोड़ा भी उपस्थित रहे।

Devi Maa Dental

हल्द्वानी- सुशीला तिवारी में चिकित्सा शिविर का आयोजन, महिला पुलिस कर्मियों की फ्री हुई जांचे

महिलाओं के कैंसर की दी जानकारी

कार्यक्रम में महिलाओं को होने वाले विभिन्न कैंसर के बारे में विभिन्न विशेषज्ञों द्वारा जानकारी दी गयी। जिसमें लक्षण, उपचार, जांचे व समय के बारे में बताया गया। व्याख्यानशाला में स्त्री व प्रसूति रोग विभाग की डा. गोदावरी जोशी स्त्री ने ब्रेस्ट कैंसर के बारे में विस्तार पूर्वक बताया। ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण क्या होते है, कैसे उसकी स्वयं जांच की जाये व चिकित्सकों द्वारा कैसे उपचार किया जाता है इसके बारे में व्याख्यान दिया।

Bansal Saree

डा. गोदावरी जोशी ने 40 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को मैमोग्राफी कराने की सलाह दी। डा. गीता जैन विभागाध्यक्ष स्त्री व प्रसूति रोग विभाग ने सर्वाइकल कैंसर के बारे में बताया कि ग्रीवा कैंसर एक प्रकार का कैंसर है जो गर्भाशय की कोशिकाओं में होता है। गर्भाशय ग्रीवा कैंसर का एक प्रमुख कारण है जो महिलाओं में मौत का कारण भी बनता है।

हल्द्वानी- सुशीला तिवारी में चिकित्सा शिविर का आयोजन, महिला पुलिस कर्मियों की फ्री हुई जांचे

गर्भाशय ग्रीवा कैंसर तब होता है जब गर्भाशय में कोशिकाएं एचपीवी या मानव पेपिलोमावायरस के उच्च जोखिम वाले प्रकारों से सक्रमित होती है। प्रारंभिक चरण गर्भाशय ग्रीवा कैंसर आमतौर पर किसी भी संकेत या लक्षण नही पैदा करता है। जब कोशिकाएं गर्भाशय की आस-पास की कोशिकाओं को प्रभावित करना शुरू करती है तो लक्षण विकसित होने लगते है। इस दौरान डा. जैन ने ग्रीवा कैसर के लक्षणों को भी बताया।

महिला पुलिस कार्मचारियों की हुई निशुल्क जांच

इस दौरान डॉ. महिमा ने महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी, जिसमें अस्थियों में कमजोरी का होना, हड्डियों में कैल्शियम और विटामिन डी 3 की कमी के होने के बारे में विस्तारपूर्वक बताया गया। उपरोक्त व्याख्यानशाला में उत्तराखंड पुलिस की महिला कर्मचारियों व उत्तराखंड पुलिस परिवार से आयी महिलाओं की विभिन्न निशुल्क जाचें की गयी। जिसमें 50 महिलाओं की हीमोग्लोबिन व थायराईड जॉच, 21 की पैप स्मैरए 12 महिलाओं की मैमोग्राफी तथा 94 की बोन मिनरल डेनसीटी की जांच की गयी। उत्तराखंड पुलिस के 60 महिला व पुरूष कर्मियों ने रक्तदान भी किया।