newstodaynetwork Banner

कोटद्वार- सांसद बलूनी की मेहनत लाई रंग, रेलवे ने सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस का किया उद्घाटन

कोटद्वार-दिल्ली रूट पर आज से सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस का संचालन शुरू हो गया है। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक वर्चुअल माध्यम से ट्रेन उद्घाटन किया। वहीं, कोटद्वार में सांसद अनिल बलूनी और गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत भी इसमें शामिल रहे। सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस सुबह पांच बजे कोटद्वार
 | 
कोटद्वार- सांसद बलूनी की मेहनत लाई रंग, रेलवे ने सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस  का किया उद्घाटन

कोटद्वार-दिल्ली रूट पर आज से सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस का संचालन शुरू हो गया है। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक वर्चुअल माध्यम से ट्रेन उद्घाटन किया। वहीं, कोटद्वार में सांसद अनिल बलूनी और गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत भी इसमें शामिल रहे।

Devi Maa Dental

सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस सुबह पांच बजे कोटद्वार पहुंच गई थी। उद्घाटन कार्यक्रम में उत्तर रेलवे के अपर महाप्रबंधक नवीन गुलाटी, डीआरएम तरुण प्रकाश, एसडीसीएम रेखा शर्मा, एडीआरएम एनएम सिंह व विशिष्ट अतिथि वन मंत्री डा. हरक सिंह रावत और लैंसडौन के विधायक दिलीप रावत भी शामिल रहे।

कोटद्वार- सांसद बलूनी की मेहनत लाई रंग, रेलवे ने सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस  का किया उद्घाटन

Bansal Saree

रेलवे प्रशासन ने शुरू की बुकिंग

सिद्धबली जन शताब्दी एक्सप्रेस के लिए रेलवे प्रशासन ने बुकिंग शुरू कर दी है। रेलवे में सफर करने वालों को दिल्ली तक सीटिंग के लिए 140 रुपये और एसी चेयर के लिए 460 रुपये किराया देना होगा। इसी तरह नजीबाबाद मोहजमपुर के लिए सीटिंग में 70 और एसी चेयर का 270 रुपये टिकट होगा।

वहीं बिजनौर के लिए 75-300, हल्दौर के लिए 85-300, चांदपुर के लिए 90-300, मंडी के लिए 100-325, गजरौला के लिए 110-335, हापुड़ 120-395, गाजियाबाद के लिए 135-440 और दिल्ली के लिए 140-460 रुपये किराया निर्धारित किया गया है।

सांसद बलूनी ने जनता को दी शुभकामनाएं

सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस के शुभारंभ मौके पर राज्यसभा सदस्य एवं भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी ने कोटद्वार क्षेत्र की जनता के साथ ही समस्त पौड़ी जनपद वासियों को शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि ट्रेन के समय को लेकर अनेक संगठनों और नागरिकों ने सुझाव दिए हैं।