पिथौरागढ़ का यह स्थान है पर्यटकों के लिए लाजवाब, ऐसे करें होम स्टे के लिए ऑनलाइन बुकिंग

438
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

पिथौरागढ़.[न्यूज टुडे नेटवर्क] कुमाऊं मंडल विकास निगम(KMVN) की होम स्टे योजना अब पिथौरागढ़ जिले की दारमा घाटी में लागू होने जा रही है. जो भी व्यक्ति अब यहां सैर के लिए आएगा मई से उसे स्थानीय लोक संस्कृति में रचे बसे घरों में रहने का इंतजाम मिलेगा. बता दें कि कनाली उत्सव के लिए जानी जाती दारमा घाटी में अभी तक होम स्टे योजना लागू नहीं हो पाई थई. इस साल वर्ष 2018 मई से दारमा में अब यह योजना शुरू की जा रही है.

यह भी पढ़ें-रामनगर-पवलगढ कंजर्वेशन रिजर्व बना पर्यटकों के लिए खास, यहां दिखते हैं दुर्लभ प्रजाती के खूबसूरत पशु-पक्षी

केएमवीएन ने होम स्टे योजना के तहत गांवों के खंडहर में तब्दील होने जा रहे घरों की मरम्मत कर सजा संवार दिया है. ग्रामीणों को नेपाल एवं अल्मोड़ा में चल रही होम स्टे वाली जगहों का भ्रमण प्रशिक्षण कराया जाएगा और कैलाश यात्रा करने वाले यात्रियों को इन गांवों में होम स्टे कराया जाएगा.

पहाड़ के खंडहर पड़े घरों का न्यू लुक

कुटी के करीब 50 तथा दान्तू, दुग्तू, बालिंग व नागलिंग नाम के गांवों के करीब 75 परिवारों को निगम ने अच्छे बेड, बिस्तर और क्राकरी आदि सामग्री देकर तथा उनके घरों की साफ-सफाई, पुताई आदि कराने के साथ ही उनकी मार्केटिंग कर होम स्टे योजना से जोड़ा है. निगम का लक्ष्य पिंडारी, सुंदरढूंगा, नामिक व पंचाचूली आदि सभी ट्रेकिंग रूटों के साथ ही दारमा घाटी के नाबी, सेला, चल, मिलम व सीपू में भी इस योजना का विस्तार कर करीब 250 गांवों को योजना से जोड़ने का है.

यह भी पढ़ें-मुक्तेश्वर घूमने आएं तो इन स्थानों पर घूमें जरूर, एडवेंचर और नेचर लवर्स लिए बना है यह क्षेत्र

तिब्बत, चीन सीमा के इन गांवों में 70 से 80 फीसदी तक पलायन हो चुका है. कभी 400 से 500 परिवारों वाले गर्ब्यांग गांव में अब 70 से 80 परिवार ही बचे हैं. रोजगार के लिए के लिए यहां के लोगों ने शहरों का रुख किया. करीब इतने ही अन्य परिवार वर्ष में एकाध बार पूजा पाठ के लिएगांव आ पाते हैं. ऐसे में उनके घर वर्ष भर खाली पड़े रहते हैं. होम स्टे योजना से इन खाली पड़े घरों की भी देखभाल हो पाएगी. होम स्टे योजना में हर ग्रामीण को करीब 800 रुपये प्रति व्यक्ति के हिसाब से फायदा मिल जाता है.

पर्यटक कैसे उठाएं होम स्टे योजना का लाभ

निगम की वेबसाइट पर ऑनलाइन बुकिंग कराने वाले इच्छुक पर्यटकों को होम स्टे सुविधा दी जाएगी. पर्यटकों को स्थानीय लोक संस्कृति में रचे बसे घरों में रहने का बढ़िया इंतजाम होगा. ऑनलाइन बुकिंग के लिए यहां क्लिक करें…KMVN