देहरादून- सोशल मीडिया पर शराब बिक्री पर अफवाह फैलाने वाले हो जाएं सावधान ! सीएम त्रिवेन्द्र की जारी की ये अपील

688
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

देहरादून- न्यूज टुडे नेटवर्क: एक बार फिर सोशल मीडिया में अफवाहों की आंधी ने आबकारी नीति पर त्रिवेन्द्र सरकार के फैसले की किरकरी कर दी है। दरअसल बीते शुक्रवार को सचिवालय में राज्य कैबिनेट की बैठक में आबकारी नीति पर संशोधन को मंजूरी मिल गई। इसके तहत शराब की दुकानों के समूहों के आवंटन की व्यवस्था को रद्द कर दिया गया है। साथ ही मॉल और डिपार्टमेंटल स्टोर्स में शराब बेचने के लिए सालाना 50 लाख के टर्नओवर और लाइसेंस फीस 5 लाख कर दी गई है।

वहीं बार लाइसेंस की सीमा को 1 साल से बढाकर 3 साल कर दिया गया है। जैसे ही त्रिवेन्द्र कैबिनेट ने शराब पर यह फैंसला लिया तो यह खबर सोशल मीडिया में आग की तरह फैल गई। जनसामान्य के बीच सरकार की शराब नीति को राज्य के खिलाफ बताया जाने लगा। कुछ दैनिक अखबारों में शराब नीति में हुए बदलाव की खबर को “परचून की दुकानों में भी बिकेगी शराब” के जरिये परोसा गया।

फिर क्या था लोगों ने अखबार की कटिंग की फोटो खींचकर अपने फेसबुक अकाउंट और ग्रुप्स में शेयर करना चालू कर दिया। और शराब पर सरकार के इस फैंसले को देवभूमि की आम जनमानस के खिलाफ बताकर सरकार को घेरना शुरू कर दिया। जैसे ही यह खबर सरकार के कानों तक पहुंची तो तुरंत इस मामले में खुद सीएम त्रिवेन्द्र ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज के माध्यम से अफवाहों से दूर रहने की अपील जारी कर दी ।

सीएम ने कहा कि हमारी सरकार शराब की बिक्री को प्रोत्साहन देने और इससे अधिक से अधिक राजस्व जुटाने के पक्ष में नहीं है। हम केवल शराब बिक्री के लिए तय नियमों का पारदर्शी तरीके से पालन करवाने की कोशिश कर रहे हैं। कृपया अफवाह न फैलाएं।

पढें सीएम की अपील- सीएम ने आबकारी नीति पर अफवाहों को ऐसे किया शांत