कारगिल युद्ध में 3 गोलियां लगने वाले उत्तराखंड के जांबाज की पत्नी मिसेस इंडिया के ग्रैंड फिनाले में

1614
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

देहरादून[न्यूज टुडे नेटवर्क]. वर्ष 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान तीन गोलियां लगने से अखिलेश सक्सेना घायल हो गए थे. इसके बाद आज तक वह शारीरिक कष्ट झेल रहे हैं. बता दें कि उनकी धर्मपत्नी शिखा सक्सेना मिसेस इंडिया क्वीन ऑफ सब्सटेंस-2018 के ग्रैंड फिनाले में पहुंच गई हैं. खास बात ये है कि शिखा ने ग्रैंड फिनाले में सैनिक आश्रितों और बच्चों के लिए फंड जुटाने को विकल्प के तौर पर चुना है.

शिखा उत्तराखंड,देहरादून में ही पली-बढ़ी

शिखा ने बताया कि वो सैनिक की पत्नी होने के कारण एक आर्मी जवान का दर्द बखूबी समझती हैं. कारगिल कॉलोनी(नई दिल्ली) निवासी शिखा सक्सेना ने बताया कि प्रतियोगिता का ग्रैंड फिनाले 13 अप्रैल को है. फिनाले में 42 प्रतिभागी पहुंचे हैं. ऑडिशन में एनआइआइ समेत देशभर से एक हजार प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था. ग्रैंड फिनाले में प्रतिभागियों में चिल्ड्रन केयर, सोशल वर्क, डिसेबल सोल्जर फैमिली एंड चिल्ड्रन फंड रेज, वूमैन इंपावरमेंट समेत कई कैटेगरी को चुनना है.

शिखा सक्सेना ने प्रतियोगिता के लिए सैनिक के आश्रितों एवं बच्चों के लिए धनराशि जुटाने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में प्रोजेक्ट के अलावा वोटिंग का भी अहम रोल है. इसमें फेसबुक, ट्विटर समेत सोशल साइट्स के माध्यम से भी वोटिंग कर सकते हैं. देहरादून निवासी शिखा के परिवार वालो ने भी उत्तराखंडवासियों से वोट की अपील की है.

उत्तराखंड की शिखा को करें Vote & Support

आप फेसबुक के जरिए भी इन्हें सपोर्ट कर सकते हैं. सर्च करें MRS India Queen Of Substance 2018

यह भी पढ़े- हल्द्वानी: सुशीला तिवारी की इस लेडी डॉक्टर से हैं सब परेशान, व्यापारियों ने शुरू किया आंदोलन

यह भी पढ़े- बॉलीवुड हॉट एक्ट्रेस ईशा गुप्ता ने यूपी के दो गांव को गोद ले लिया, वजह जानकर खुशी होगी

यह भी पढ़े- शूटिंग के लिए 13 अप्रैल को उत्तराखंड आएंगे ये फिल्मी सितारे