हद हो गई- UP के 43 जिलों में सामने आया अनाज घोटाला, सीएम योगी ने दिए STF जांच के आदेश

119
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

लखनऊ- न्यूज टुडे नेटवर्क: गरीबों की थाली में पहुंचने से पहले ही अनाज का घोटाला सामने आने के बाद देश के सबसे बड़े सूबे में हड़कंप मच गया है। जिसके बाद उत्तर प्रदेश के 43 जिलों में आधार कार्ड नंबरों के डाटाबेस में सेंधमारी कर घोटाला होने की जांच एसटीएफ को सौंप दी गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर एसटीएफ को सौंपी गई है। सूत्रों के मुताबिक, एसटीएफ ने रसद विभाग से साक्ष्य मांगे हैं। ये पूरा मामला सामने आने के बाद सभी जिलों के अफसरों में खलबली मची हुई है।

क्या है मामला

दरअसल, यूपी के 43 जिलों में 1 लाख 80 हजार आधार कार्ड का गलत इस्तेमाल किया गया है। एक आधार कार्ड का 1 हजार से 2 हजार बार इस्तेमाल किया गया। जांच से पता चला कि कोटेदारों ने तकनीकी ऑपरेटरों से मिलकर वास्तविक लाभार्थी के डाटाबेस में दर्ज उसके आधार संख्या को एडिट कर किसी अन्य व्यक्ति की आधार संख्या को फीड कर दिया। फिर इस अन्य व्यक्ति के अंगुलियों के निशानों का इस्तेमाल कर स्टॉक से अनाज निकाल लिया गया।

ट्रांजेक्शन प्रक्रिया पूरी होने के बाद वास्तविक लाभार्थी के आधार संख्या को फिर उसके डाटाबेस में अपडेट कर दिया गया। इस तरह वास्तविक लाभार्थी को सस्ते अनाज की सुविधा से वंचित कर घोटाले को अंजाम दिया गया। उधर इस अनाज घोटाले के सामने आने के बाद एक बार सरकारी सिस्टम में पैठ बना चुके भ्रष्टाचार की परत दर परत खुल कर सामने आ गई है। फिलहाल एसटीएफ की जाँच शुरू हो चुकी है और रसद विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।