हल्दूचौड़ का ये बदमाश करता था माओवादियों की मदद, किच्छा पुलिस ने 2 माओवादियों संग दबोचा

1072
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

रूद्रपुर- न्यूज टुडे नेटवर्क: किच्छा पुलिस ने रविवार रात मधुबनी बिहार में हुए आपरेशन धमाका समेत विभिन्‍न आपराधिक वारदातों में शामिल रहे 2 माओवादियों को गिरफ्तार किया है। मौके से पुलिस ने इनके पास से प्रतिबंधित माओवादी साहित्‍य, पुस्‍तकें और पंपलेट बरामद किए हैं। किच्‍छा के आनंदपुर मोड से दोनो की देर रात गिरफ्तारी हुई है।

कुमाऊं में माओवादियों का फैला है जाल

पकड़े गए माओवादियों के साथ नैनीताल जिले की तहसील लालकुआं के हल्‍दूचौड का निवासी रमेश भट्ट उर्फ मनीष मास्‍टर उर्फ दिवाकर भट्ट के अलावा थाना सैयद रजा, चंदौली, उत्‍तर प्रदेश निवासी मनोज कुमार सिंह उर्फ अरविंद को भी पुलिस ने इनके साथ शामिल होने के चलते दबोचा है। जिसमें से रमेश भट्ट दस हजार का इनामी बदमाश है।

पकड़े गए माओवादी

मामले में एसएसपी डॉ सदानंद दाते ने जानकारी दी कि वर्ष 2017 में माओवादी देवेंद्र चम्‍याल की नैनीताल के चोरगलिया से गिरफ्तारी के समय भी इन दोनों के नाम सामने आए थे। साथ ही यूएसनगर में कई और माओवादियों की सक्रियता की पुलिस को जानकारी मिली थी। इस पर पुलिस और खुफिया विभाग उनकी तलाश में जुटी थी। उन्‍होंने बताया कि गिरफ्तार दोनों माओवादियों के उत्‍तराखंड जोनल कमेटी के सक्रिय सदस्‍य होने की पुष्‍टि हुई है। वे सौफुटिया हंसपुर खत्‍ता, चोरगलिया में चलाए गए माओवादी कैंप में भी शामिल रहे हैं।

एसएसपी डॉ सदानंद दाते

ऐसे देते थे वारदात को अंजाम

एसएसपी ने बताया कि जांच में पता चला कि मधुबनी बिहार में हुए आपरेशन धमाका में भी दोनों सक्रिय रहे। रविवार रात पुलिस ने दोनों को किच्‍छा थाना क्षेत्र के आनंदपुर मोड से गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी ने बताया कि रमेश भट्ट आम जनता को माओवादी विचारधारा के प्रति उकसाकर भड़काने का काम करता था। मनोज कैंप का संयोजन, व्‍यवस्‍थापक एंव मास्‍टर माइंड रहा है। रमेश भट्ट जहां किच्‍छा की आयरन कंपनी में काम कर रहा था, वहीं मनोज बरेली में एक निजी स्‍कूल में पढ़ा रहा था। पुलिस ने दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कोर्ट में पेश किया।