इस लड़की ने अपने चेहरे पर पीरियड्स का ब्लड पोतकर सोशल मीडिया में की फोटो पोस्ट,लोगो ने कहा…

202
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

हमारा भारत देश एक ऐसा देश है जहां लड़कियों को अगर पीरियड्स हो जाते हैं तो उनके ऊपर बंदिशें लगा देते हैं, तुम मंदिर नहीं जा सकती-तुम रसोई में नहीं जा सकती अगेरा-वगैरह, क्योंकि ये रीति-रिवाज़ हमारे पूर्वज बना के चले गए इसलिए?

यह बिल्कुल बेबुनियाद बात है. माहवारी के दौरान शरीर से निकलने वाला खून भी ठीक वैसा ही होता है जैसा शरीर में कट लग जाने पर निकलने वाला खून. दरअसल खून के साथ गर्भाशय से निकलने वाले ऊतक भी इसमें मिले होते हैं जिस कारण इसे दूषित मान लिया जाता है.

 periods

इसी धारणा को बदलने के लिए ऑस्ट्रेलिया की पूर्व हेयर ड्रेसर याज़मिना जेड ने अपने चेहरे पर माहवारी के ब्लड को पोत कर तस्वीर सोशल मीडिया पर डाल दी. उनका मकसद लोगों में मैसेज देना था कि इसमें अशुद्ध जैसा कुछ नहीं होता है.

हालांकि उनके इस पोस्ट को लेकर लोग आग बबूला हो गए और उनकी जमकर आलोचना भी कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि यह सिर्फ पब्लिसिटी स्टंट है और कुछ नहीं. मामला कुछ भी हो लेकिन मैसेज बुरा नहीं है. वहीं याज़मिना का कहना है कि, ‘यह ब्लड काफी रचनात्मक होता है अगर हम ब्लीड ना करें तो यह सृष्टि नहीं चल सकेगी. यह हमारे लिए सम्मान की बात है.’