newstodaynetwork Banner

देहरादून- केन्द्र परिवहन मंत्रालय में उप मंत्री रहे उत्तराखंड के ये समाजिक कार्यकर्ता, निभाई कई अहम जिम्मेदारियां

भक्त दर्शन एक लोकप्रिय समाजिक और राजनीतिक कार्यकर्ता थे। वह केन्द्र मंत्री परिषद में स्थान पाने वाले गढ़वाल क्षेत्र के पहले सांसद भी रहे। दर्शन का जन्म उत्तराखंड के गढ़वाल में 12 फरवरी 1912 को हुआ। अपनी प्रांरभिक शिक्षा उन्होंने डीएवी कॉलेज देहरादून से की। वही बीए की पढ़ाई शांति निकेतन और एमए इलाहाबाद विश्वविद्यालय
 | 
देहरादून- केन्द्र परिवहन मंत्रालय में उप मंत्री रहे उत्तराखंड के ये समाजिक कार्यकर्ता, निभाई कई अहम जिम्मेदारियां

भक्त दर्शन एक लोकप्रिय समाजिक और राजनीतिक कार्यकर्ता थे। वह केन्द्र मंत्री परिषद में स्थान पाने वाले गढ़वाल क्षेत्र के पहले सांसद भी रहे। दर्शन का जन्म उत्तराखंड के गढ़वाल में 12 फरवरी 1912 को हुआ। अपनी प्रांरभिक शिक्षा उन्होंने डीएवी कॉलेज देहरादून से की। वही बीए की पढ़ाई शांति निकेतन और एमए इलाहाबाद विश्वविद्यालय से उत्तीर्ण किया।

Devi Maa Dental

केन्द्र परिवहन मंत्रालय में रहे उप मंत्री

1930 में वह महात्मागांधी के व्यक्तित्व से प्रभावित होकर नमक आंदोलन में कूद पड़े। इस दौरान उन्हें गिरफ्तार कर आगरा जेल भेज दिया गया। 1948 में भक्त दर्शन गढ़वाल जिला परिषद के निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए। 1950 से 52 तक वह नियोजन अधिकारी गढ़वाल और देहरादून रहे।

1963 से मार्च 1971 तक वह केन्द्र सरकार में शिक्षा उप मंत्री राज्य मंत्री और परिवहन मंत्रालय में उप मंत्री भी रहे। 1972 से 77 तक वह कानपुर विश्वविद्यालय के कुलपति और 1988 से 1990 तक उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान के उपाध्यक्ष रहे। 30 अप्रैल 1991 को देहरादून में इस महान हस्ती का निधन हो गया।

Bansal Saree