देहरादून- यहाँ 12 अगस्त से शुरू हो रही है ‘भजन गायन प्रतियोगिता’ ,भजन गाने का है शौक तो जान लें प्रतियोगिता के नियम

150
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

देहरादून- न्यूज टुडे नेटवर्क: युवा पीढी में धर्म एवं संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए श्री सनातन धर्म धर्मार्थ समिति गीता भवन एवं श्री सनातन धर्म कन्या अन्तर कॉलेज द्वारा 12 अगस्त 2018 से श्री कृष्णा जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर भजन गायन प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता का उद्देश्य शहर के सभी धर्म और वर्गों से आने वाले उन युवा कलाकारों को प्रोत्साहित कर सही मंच प्रदान करना हैं जो भजन गायन में रूचि रखते हो। प्रेस वार्ता में राकेश ओबेरॉय, गुलशन खुराना, विपिन नगलिया, यशवंत दत्ता, राजू पुरी, जय भगवान, देवेन्द्र गोयल, धर्मी मिश्र एवं इंदु दत्ता उपस्थित रहे।

भजन गायन प्रतियोगिता की जानकारी देते आयोजक मंडल के पदाधिकारी

12 अगस्त से शुरू होगा भजन गायन प्रतियोगिता का प्रथम चरण

भजन गायन प्रतियोगिता 3 चरणों में आयोजित की जा रही है । भजन गायन प्रतियोगिता का प्रथम चरण 12 अगस्त को गीता भवन मंदिर के परिसर में आयोजित किया जायेगा जिसमें प्रतियोगियों का रजिस्ट्रेशन होगा, जिसके पश्चात् ऑडिशन राउंड होगा। ऑडिशन राउंड में प्रतियोगियों को निर्णायकों के सामने भजन की प्रस्तुति देनी होगी। इस राउंड में चुने हुए प्रतियोगी को सेमी फाइनल राउंड में भजन की प्रस्तुति देनी होगी। सेमी फाइनल राउंड 19 अगस्त को गीता भवन में आयोजित किया जायेगा। भजन प्रतियोगिता के तीनो वर्गों के विजेताओ को 3 वरिष्ठ निर्णायकों द्वारा चुना जायेगा।

भजन गायकी प्रतियोगिता के नियम

प्रथम चरण में प्रतिभागियों द्वारा किसी भी वाद्य यंत्र का प्रयोग नहीं किया जायेगा।
कोई भी फ़िल्मी भजन स्वीकार्य नहीं किये जायेंगे ।
प्रतिभागी व्यावसायिक संगीतकार एवं संगीत अध्यापक नहीं होगा चाहिए ।
प्रतियोगिता 3 आयु वर्गों में विभाजित की जाएगी जिसमें ग्रुप ए – आयु सीमा 8 वर्ष से 12 वर्ष, ग्रुप बी – आयु सीमा 13 वर्ष से 18 वर्ष एवं ग्रुप सी – आयु सीमा 19 वर्ष से 25 वर्ष होगी।

सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत के हाथों होगा विजेताओं का सम्मान

भजन प्रतियोगिता का फाइनल राउंड का ग्रैंड फिनाले एक भव्य कार्यक्रम के रूप में देहरादून शहर में सर्वे चौक स्थित आईआरटीडी ऑडिटोरियम में 25 अगस्त को दोपहर 3 बजे से आयोजित किया जायेगा। फाइनल राउंड में हर वर्ग से 3 विजेताओं को चुना जायेगा। फाइनल राउंड में प्रतियोगियों के उत्साह वर्धन के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत मुख्य अथिति के रूप में सम्मलित होंगे एवं विजेताओं को पुरस्कृत करेंगे।