नई दिल्ली: 15 फरवरी में लग रहा है साल का पहला सूर्य ग्रहण, जानें कब से कब तक रहेगा असर और किन बातों का रखें ख्‍याल

49
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

देहरादून- ज्योतिष में ग्रहणों का बहुत महत्व है क्योंकि उसका सीधा प्रभाव मानव जीवन पर पड़ता है यह तो सर्वविदित है कि जब भी ग्रहण पड़ता है तो चंद्र ग्रहण पूर्णिमा और सूर्य ग्रहण अमावस्या के दिन ही पड़ते हैं। बीते 31 जनवरी को साल का पहले चंद्रगहण का दीदार करने के बाद अब 15 फरवरी को पड़ने वाले सूर्य ग्रहण का लोगों को बेसब्री से इंतजार है।

Solar Eclipse 2018

भारत में नही दिखेगा सूर्यग्रहण

आपको बता दें कि यह सूर्य ग्रहण आंशिक है। यह ग्रहण दक्षिणी अमेरिका उरुग्वे और ब्राजील में देखा जाएगा। हालांकि कहा जा रहा है कि ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा। सूर्य ग्रहण के 12 घंटे पहले सूतक लग जाते हैं । मान्यताओं के अनुसार इस दौरान कुछ कामों को करने की मनाही होती है।

जानें क्या है ग्रहण का समय

यह ग्रहण 15 फरवरी (गुरुवार) की रात 12.25 मिनट से शुरू होकर 16 फरवरी सुबह 4.18 तक रहेगा। हालांकि सूतक काल ग्रहण के लगभग 12 घंटे पहले यानी 15 फरवरी सुबह 11.35 पर शुरू हो जाएगा। यह सूर्य ग्रहण आंशिक सूर्य ग्रहण होगा।

क्या होता है सूर्य ग्रहण?

पृथ्वी सूरज का उपग्रह है और उसके चक्कर लगाती है वहीं, चंद्रमा पृथ्वी का उपग्रह है और उसके चक्कर लगता है।  यानी सूरज, पृथ्वी और चंद्रमा तीनों परिक्रमा करते हैं। इसी दौरान जब भी यह तीनों एक सीधी रेखा में आते हैं तब सूर्य का प्रकाश चांद ढक लेता है। इसी घटना को सूर्य ग्रहण कहा जाता है।

आपको बता दें कि इस साल 2018 में पांच ग्रहण होंगे, जिसमें से 3 सूर्यग्रहण और 2 चंद्रग्रहण हैं।  15 फरवरी 2018 को पहला सूर्यग्रहण है। इसके बाद दूसरा सूर्यग्रहण 13 जुलाई 2018 और तीसरा सूर्यग्रहण 11 अगस्त 2018 को होगा।