सोशल मीडिया पर Ban हुई इस देश के लोगों की एंट्री, भ्रम फैलाने का है आरोप

50
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्‍ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: आज के वक्त में सोशल मीडिया किसी हथियार से कम नही है। ऐसे में कई बार सोशल मीडिया के कई नकारात्मक पहलू भी सामने आ ही जाते हैं। भारत में मॉब लिंचिंग जैसी घटनाएं भी सोशल मीडिया पर फैली झूठी अफवाहों का ही नतीजा निकलती हैं। ऐसा ही हाल दुनिया के बाकी देशों का भी है, जो सोशल मीडिया पर झूठी और भ्रामक जानकारी फैलने से परेशान हैं।

फेसबुक, गूगल+ और माइक्रोसॉफ्ट ने कसा शिकंजा

ऐसे ही मामले में फेसबुक, गूगल+ और माइक्रोसॉफ्ट ने गलत और भ्रामक जानकारी देने वाले यूजर पर शिकंजा कस दिया है। इसके तहत ईरान के यूजर के कई सोशल मीडिया खाते सील किए गए हैं। गूगल ने ईरान से जुड़े कुछ यूट्यूब चैनल और अन्य खातों को ब्लॉक कर दिया है। बताया जा रहा है कि इन खातों का इस्तेमाल गलत सूचनाएं फैलाने में किया जा रहा था. फेसबुक और टि्वटर पहले की कई यूजरों के खाते बंद कर चुके हैं या ब्‍लॉक कर दिए हैं।

इस्लामिक रिपब्लिक आफ ईरान ब्रॉडकास्टिंग से जुड़े मिले तार

जांच में पाया गया कि ये खाते इस्लामिक रिपब्लिक आफ ईरान ब्रॉडकास्टिंग से जुड़े थे। उसके अनुसार यह सबंध कम से कम जनवरी, 2017 से चल रहे एक प्रयास के तहत था। ज्‍यादातर यूट्यूब चैनल ईरान के फोन नंबरों से लिंक थे। इन चैनलों के जरिए अमेरिका, ब्रिटेन, लातिनी अमेरिका और खाड़ी देशों के यूजर को बरगलाया जा रहा था। फेसबुक ने ऐसे करीब 650 पन्‍नों और समूहों को डिसेबल किया है।