नई दिल्ली: अगर आप भी हैं सेल्फी लेने के शौकीन, तो खबर पढकर कर लेंगे तौबा…आखिर जिन्दगी का जो सवाल है

43
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्ली: अगर आप भी अपने स्मार्टफोन से सुबह उठने से लेकर रात सोने तक सेल्फी लेने में मशगूल रहते हैं तो खबरदार हो जाइये। हमारी इस बात पर यकीन करने की एक और वजह है। मार्च 2014 से सितंबर 2016 के बीच दुनियाभर में 127 मौतें सेल्फी लेने के दौरान हुई, इन 127 मौतों में से 76 मौतें अकेले भारत में हुई।

Selfaitis

दरअसल, यह दावा लंदन की नॉटिंघम ट्रेंट यूनिवर्सिटी और तमिलानडु की त्यागराजार स्कूल ऑफ मैनेजमेंट ने अपनी रिसर्च में किया है। यह रिसर्च इंटरनेशनल जर्नल ऑफ मेंटल हेल्थ ऐंड अडिक्शन में प्रकाशित की गई है।

कहीं आपको तो नही ‘सेल्फाइटिस’

शोधकर्ताओं ने रिसर्च में सेल्फी से जुड़े इस डिसऑर्डर को ‘सेल्फाइटिस’ का नाम दिया है। रिसर्च करने वाले नॉटिंघम यूनिवर्सिटी के मार्क ग्रिफिथ के मुताबिक, बीमारी का पता लगाने के लिए उन्होंने दुनिया का पहला ‘सेल्फाइटिस बिहेवियर स्केल’ भी तैयार किया है। अपनी तरह के इस अनूठे बिहेवियर स्कूल को 200 लोगों के फोकस ग्रुप और 400 लोगों पर सर्वे के बाद बनाया गया है।

Selfaitis

मार्क ग्रिफिथ के मुताबिक, ज्यादा सेल्फी लेने वालों की आदतें काफी हद तक नशेबाजी की तरह होने लगती हैं। यही नही अनुसंधानकर्ताओं के मुताबिक सेल्फाइटिस से ग्रस्त लोग ज्यादातर अपना आत्मविश्वास, मूड ठीक करने, अपनी यादें संजोने, खुद की स्वीकार्यता दिलाने और दूसरों से आगे रहने के लिए बार-बार सेल्फी लेते हैं।

ऐसे पहचानें सेल्फाइटिस

जानकारों के मुताबिक सेल्फाइटिस बीमारी के तीन स्तर होते हैं। अगर आप भी सेल्फी के शौक से खुद को छोड़ नही पाते तो इन बातों पर ध्यान दें , क्योंकि कहीं इस शौक के चलते आपको लेने के देने ना पड़ जायें। पहला अगर आप दिन में 3 सेल्फी लेते हैं लेकिन सेल्फी सोशल मीडिया पर पोस्ट नही करते हैं। दूसरा अगर आप सेल्फी लेकर उसे सोशल मीडिया में शेयर करना शुरू कर देते हैं। तीसरा हर समय अपनी सेल्फी सोशल मीडिया पर पोस्ट करने की कोशिश करते हैं और दिन में कम से कम 6 फोटो पोस्ट करते हैं, तो संभल जाइये क्योंकि आप भी सेल्फाइटिस का शिकार हो चुके हैं।

सेहत की दुश्मन है ये सेल्फी

बार -बार सेल्फी लेने से ऊंगलियों की नसें अकड़ सकती हैं और टेंडिनाइटिस बीमारी हो सकती है। यही नही थोड़ी थोड़ी देर में सेल्फी लेने से गर्दन में दर्द और सर्वाइकल की शिकायत का भी सामना करना पड़ सकता है। मोबाइल की लाइट और स्क्रीन रिजाल्युशन की वजह से आंखों की दिक्कत की परेशानी हो सकती है। इसके अलावा पर्सनैलिटी डिसआर्डर जैसी कई परेशानियों का सामना सेल्फी की वजह से करना पड़ सकता है। ऐसे में हम तो यही कहेंगे कि अब भी संभल जाइये क्योंकि सेहत से बड़ा कोई शौक नही।