हल्द्वानी- पिछले 30 सालों से होनहारों का भविष्य गढ रहा है यह स्कूल, हर फील्ड में है विद्यार्थियों का जलवा

731
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क: नौनिहालों के बेहतर भविष्य निर्माण में स्कूल का बेहद अहम स्थान होता है। ऐसे में बच्चों को पढाई के साथ -साथ आज के प्रतियोगी दौर के काबिल बनाने के संकल्प के साथ हल्द्वानी के मल्ली बमौरी स्थित Sacred Heart School ने क्षेत्र में एक खास मुकाम बनाया है। साल 1988 में 3 कमरों के साथ शुरू हुए सैक्रेड हार्ट स्कूल की की स्थापना Dr. Theophiles Paul के हाथों हुई। साल 1997 में 10वीं तक की शिक्षा के लिए CBSE का एफिलेशन मिला और इसके बाद 12वीं तक। विद्यार्थियों की शिक्षा को लेकर सैक्रेड हार्ट स्कूल प्रबंधन के दृढ संकल्प का ही कमाल है कि 13 अप्रैल 2018 को स्कूल ने 30 साल का सफर पूरा कर लिया है। इस दौरान अनगिनत युवाओं ने बोर्ड परीक्षाओं में जहाँ टॉप किया वहीं स्कूली शिक्षा के उपरांत कई महत्वपूर्ण परीक्षाओं में सफलता भी हासिल की।

विद्यालय के होनहार विद्यार्थियों के साथ प्रिंसिपल दीपक पॉल

 

तो इसलिए है Sacred Heart School अभिभावकों की पहली पसंद

वर्तमान में प्रधानाचार्य दीपक पॉल और मैनेजर सुधा पॉल के मार्गनिर्देशन में सैक्रेड हार्ट सीनियर सेकेंडरी स्कूल विद्यार्थी शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। विद्यालय में उच्च शिक्षा प्राप्त शिक्षकों के द्वारा बच्चों को ना केवल किताबी ज्ञान बल्कि सम्पूर्ण व्यक्तित्व विकास के लिए प्रेरित किया जाता है।Focused curriculum के माध्यम से विद्यार्थियों को बोर्ड परीक्षाओं के लिए तैयार किया जाता है। इसके साथ ही पढाई में कमजोर विद्यार्थियों को स्पेशल क्लासेस के माध्यम से आगे बढाया जाता है।

प्रिंसिपल दीपक पॉल

अत्याधुनिक लाइब्रेरी के द्वारा विद्यार्थियों को कोर्स के साथ ही विभिन्न विषयों पर एक्सपर्ट की लिखी किताबों से भी रूबरू होने का अवसर मिलता है।Extra cirricular activities के माध्यम से बच्चों के भीतर छुपी प्रतिभा को निखारा जाता है। यही वजह है कि Sacred Heart School के बच्चे आज विभिन्न खेलों जैसे- बास्केटबॉल, क्रिकेट, बॉलीवॉल, फुटबाल, टेबल टेनिस, स्केटिंग में बेहतरीन प्रदर्शन के द्वारा नाम कमा रहे हैं।

हर क्षेत्र में है सैक्रेड हार्ट स्कूल के होनहारों का जलवा

पिछले 30 वर्षों में सैक्रेड हार्ट स्कूल से पढ लिख कर कई होनहारों ने अपनी प्रतिभा का हुनर बिखेरा है। मेडिकल, इंजीनियरिंग जैसे क्षेत्रों के अलावा आज स्पोर्ट्स, अनुसंधान और फैशन इंडस्ट्री में भी सैक्रेड हार्ट स्कूल के विद्यार्थी परचम लहरा रहे हैं। Akram Tariq Khan ने साल 2013 में बारहवीं की परीक्षा में 100% मार्क्स प्राप्त किये थे। वहीं Aditya Pandey का 92 प्रतिशत अंकों के साथ आईआईटी, Evy Varshneya का आईआईटी कानपुर और Abhisek Kumar Gautam आईआईटी रूड़की में सलेक्शन हुआ ।