उत्तराखंड के इस डीएम को गंंदे नाले के बीचों बीच पाकर चौंक गए लोग, बढाया मदद का हाथ

1596
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

रुद्रप्रयाग- न्यूज टुडे नेटवर्क: नौकरशाही में ऐसा अमूमन कम ही देखने को मिलता है जब कोई आला अफसर जनता से जुड़े मुद्दों पर बिना किसी लाग लपेट के सीधे कार्रवाई करता हो। एसी आफिस में बैठकर महज कागजी आदेश जारी करने और जमीनी हकीकत से कोसों दूर रहने वाले सरकारी अधिकारियों से तो आपका खूब पाला पड़ा होगा। ऐसे में जब सरकारी नौकरशाही के निकम्मेपन से इतर रूद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल की बात होती है , तो नौकरशाही को लेकर आमजनमानस की यह धारणा ही बदल जाती है। दरअसल बतौर डीएम जिस तरह से मंगेश घिल्डियाल आम जनता से जुडे मुद्दों को अपने हाथ में लेते हैं वह अपने आप में नजीर बन जाता है।

कुछ इस तरह नाले की सफाई में जुटे डीएम मंगेश घिल्डियाल

डीएम को सफाई करता देख जुटे स्थानीय युवा और अफसर

जिला गंगा समिति और रेडक्रास के संयुक्त तत्वाधान के तहत रुद्रप्रयाग के डीएम मंगेश घिल्डियाल को शहर के सबसे दूषित नाले की सफाई करते जब स्थानीय लोगों ने देखा तो हर कोई हैरत में पड़ गया। हालांकि उनके साथ सरकारी अमला भी था, लेकिन डीएम स्वयं जुटे हुए थे। जिले के मुखिया को गंदे नाले की सफाई करता देख आसपास के स्थानीय युवाओं को भी हौंसला मिला। और वे भी नाले की सफाई में जुट गए।

डीएम को सफाई करता देख स्थानीय युवाओं ने भी सफाई अभियान में बढचढ कर किया प्रतिभाग

आपको बता दें कि रुद्रप्रयाग के पास बहने वाले बरसाती नाले (पुनाड़ गदेरा) में बेतरतीब ढंग से पॉलीथीन और दूसरा कचरा फेंके जाने से नाले के पानी के बहाव में रूकावट आ रही थी। यही नही कूडे के ढेर की वजह से क्षेत्र में संक्रमण का भी खतरा बढ रहा था। यही वजह रही जैसे ही डीएम को इस गंदे नाले की जानकारी लगी तो वो सरकारी अमले के साथ वहां पहुंच गए और नाले के आसपास की झाड़ियां साफ करने के साथ-साथ सफाई अभियान भी चलाया। डीएम को सफाई करते देख साथ आए दूसरे अफसरों ने भी कूडा सफाई में देर नही लगाई।

इस मौके पर डीएम मंगेश घिल्डियाल ने नगरपालिका को निर्देश दिया कि नदी व नालों के किनारे सीसीटीवी लगाएं। इससे उन लोगों की पहचान की जा सकेगी जो नदी-नालों के किनारे कचरा डाल रहे हैं। उन्होंने शहर के प्रत्येक व्यापारी से अपनी दुकान के सामने अनिवार्य रूप से कूड़ादान रखने के भी अपील की।